DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बसंत में बरखा बहार

ााती सर्दी में मेघ आखिर मेहरबान हो ही गए। मंगलवार को अचानक मौसम पलटा और आकाश में छाई बदली के बाद तेज आँधी चली। 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चली इस आँधी ने उमस और तीखी धूप की शिकायत कर रहे लोगों को फिर सर्दी की मौजूदगी का अहसास करा दिया। इसके बाद गरा-चमक के साथ बारिश भी हुई। जाड़े के मौसम की इस पहली बरसात ने किसानों के चेहरे खिला दिए। मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक गेहूँ, चना, मटर, जौ आदि की फसलों के लिए तो आकाश से सोना बरसा है। इसके अलावा सरसों व लाही आदि की फसलों में लग रहे कीट से भी निजात मिलेगी बशर्ते बारिश होने के बाद आसमान बिल्कुल साफ हो जाए। काकोरी-मलिहाबाद व माल इलाके की फलपट्टी में आम के बागों में आई बौर को भी इस बारिश से फायदा होगा।ड्ढr बारिश ने फाल्गुन के शुरू में सभी को मस्त कर दिया हालाँकि तेज सहालग के इस दौर में मंगलवार को जहाँ- जहाँ खुले में शादियों के शामियाने सजे हुए थे, वहाँ जरूर दिक्कत आई। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि अगले 24 घण्टों के दरम्यान भी लखनऊ समेत पूरे प्रदेश में बदली छाई रहेगी। बारिश के आसार हैं। (प्रसं)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बसंत में बरखा बहार