DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीजी में शुरू होगा सेप

वालिटी ऑफ एजुकेशन के लिए रांची यूनिवर्सिटी के तीन पीजी डिपार्टमेंट में स्पेशल एसिस्टेंट प्रोग्राम (सेप) शुरू किये जायेंगे। इसके तहत कम से कम एक प्रोफेसर, दो रीडर और चार रिसर्च एसोसिएट की नियुक्ित पांच वर्ष के लिए की जायेगी।ड्ढr पांच वर्ष बाद झारखंड सरकार की जिम्मेवारी होगी कि वह पद के वित्तीय भार को वहन कर। हर डिपार्टमेंट के एचओडी टीचरों की नियुक्ित का प्रस्ताव यूजीसी को सौंपेंगे। प्रोग्राम के लिए टीचरों के चयन की कवायद शुरू कर दी गयी है। प्रस्ताव पर अंतिम निर्णय यूजीसी लेगी।ड्ढr सेप के लिए एंथ्रोपोलॉजी, हिस्ट्री और जियोलॉजी डिपार्टमेंट का चयन किया गया है। एंथ्रोपोलॉजी पीजी डिपार्टमेंट के एचओडी डॉ युगल किशोर जायसवाल ने बताया कि इस प्रोग्राम से विद्यार्थी मानव के विकास से जुड़े पहलुओं को गहराई से जान सकेंगे। झारखंड की संस्कृति के अनछुए पहलुओं की जानकारी मिलेगी।ड्ढr जीवों के उद्भव और विकास के कई सिद्धांतों से रू-ब-रू होंगे। साथ ही झारखंड की विभिन्न भाषाओं की उत्पत्ति और इसके क्रमिक विकास की तकनीकी पहलुओं से अवगत होंगे। इससे विद्यार्थियों के बौद्धिक विकास के साथ-साथ क्वालिटी ऑफ एजुकेशन में भी सुधार आयेगा। खास यह भी है कि सेप शुरू होने से पीजी डिपार्टमेंट को इंटीग्रेटेट पार्ट का दर्जा मिलेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पीजी में शुरू होगा सेप