DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अनुमंडल स्तर पर बनेंगे परीक्षा केंद्र

इंटर की वार्षिक परीक्षा में इस बार महिला कॉलेजों की छात्राओं को अधिक परशानी नहीं झेलनी होगी। उनके लिए अनुमंडल स्तर पर ही परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने छात्राओं की सहूलियत के लिए यह निर्णय लिया है। हालांकि सह शिक्षा वाले इंटर स्कूल और कॉलेजों की छात्राओं को यह सुविधा नहीं मिल पाएगी। समिति ने महिला कॉलेजों की छात्राओं को यह सुविधा दिलाने के लिए सभी जिलों के डीएम को पत्र लिखा है। इसके बाद जिला स्तर पर इसके बार में कार्रवाई शुरू कर दी गई है।ड्ढr ड्ढr बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने छात्राओं को होने वाली परशानी से निजात दिलाने के लिए परीक्षाएं उनके क्षेत्र में ही लेने का निर्णय लिया है। इससे अभिभावकों को भी उन्हें परीक्षा केंद्रों तक ले जाने में अधिक परशानी नहीं होगी। समिति के अध्यक्ष प्रो. एकेपी यादव ने बताया कि तत्काल महिला कॉलेजों के परीक्षा केंद्र उसी अनुमंडल के तहत रहेंगे। जिन महिला कॉलेजों के परीक्षा केंद्र अन्य अनुमंडलों में बना दिए गए थे, उनको वापस उसी अनुमंडल में रखा जाएगा। इसके लिए जिला स्तर पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। आजकल परीक्षा केंद्रों की सूची को अंतिम रूप दिया जा रहा है। कई जिलों से इस निर्देश के अनुपालन की रिपोर्ट भी समिति को मिली है। अध्यक्ष ने कहा है कि सह शिक्षा वाले कॉलेजों की छात्राओं का क्रमांक मिला रहता है और इस कारण उनके लिए अलग परीक्षा केंद्र बनाना संभव नहीं है। मैट्रिक में पहले से ही बालिका उच्च विद्यालयों के परीक्षा केंद्र अनुमंडल स्तर पर बनाए जाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अनुमंडल स्तर पर बनेंगे परीक्षा केंद्र