DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आखिरकार माना पाक, वहीं रची गई साजिश

पिछले साल 26 नवंबर को मुंबई में हुए आतंकवादी हमलों पर पाकिस्तान को भारत के द्वारा दिए गए सबूतों पर जवाब देते हुए पाकिस्तान ने मान लिया है कि साजिश पाकिस्तान में भी रची गई। पाकिस्तान ने कसाब समेत8 लोगों पर केस दर्ज कर लिया है और उन सबपर पाकिस्तान में ही मुकदमा चलाया जाएगा। एफआईआर गुरुवार सुबह को दर्जकी गई। एफआईआर दो भागों में दर्जकी गईहै। पहला केस आतंकवाद विरोधी कानून के तहत और दूसरा साइबर अपराध के तहत दर्ज किया गया। कुल 8 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। इनमें से 6 सुरक्षा एजेंसियों के कब्जे में हैं। पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री रहमान मलिक ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि मुंबई में हुए हमलों की साजिश पाकिस्तान में ही रची गई थी। उन्होंने कहा कि जांच में पता चला है कि आतंकवादी कराची से नाव में बैठकर गए थे। सभी आतंकवादी लश्कर-ए-तोएबा से संबंधित हैं। नाव का नाम अल फौज है जो पाकिस्तान सुरक्षा एजेंसियों के कब्जे में है। पाकिस्तान ने मान लिया है कि मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड लखवी ही था। आतंकवादियों को ट्रेनिंग जकीउर रहमान लखवी ने ही दिया था, जिसे पाकिस्तान सरकार ने गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में जावेद नाम का एक व्यक्ित स्पेन के बार्सीलोना में पकड़ा गया और अभी वह पाकिस्तान की गिरफ्त में है। जावेद ने ही आतंकवादियों को इंटरनेटफोन मुहैया करवाए।इनके साथ-साथ अबु अल कामा को भी गिरफ्तार किया गया है। अबु हम्जा का अभी पता नहीं चला है और उसको पकड़ने की कोशिश जारी है। उन्होंने कहा कि जिस दुकान से नाव की इंजन खरीदी गई थी उस दुकान की भी पहचान कर ली गई है। रहमान ने भारत के इस दावे को भी मान लिया कि मुंबई में आतंकवादी हमले के दौरान पाकिस्तान में बैठे उनके आका लगातार संपर्क में थे। उन्होंने बताया कि पैसे की लेन-देन इटली में हुआ। इसके साथ-साथ पाकिस्तान ने भारत से और सबूत मांगे हैं। उन्होंने भारत से कुल 30 सवाल पूछे हैं, जिसमें एक सवाल यह भी है कि भारत बताए कि सारे आतंकवादियों को कैसे मार गिराया गया। भारत से कसाब का डीएनए सैंपल भी मांगा गया है। भारत के साथ-साथ चार और देशों रूस, इटली, अमेरिका और स्पेन से सबूतों की मांग की गई है। पाकिस्तान ने अपना जवाब भारतीय उच्चायुक्त को सौंप दिया है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ पाकिस्तान भारत के साथ बिना किसी शर्त के सहयोग करने को तैयार है। रहमान ने कहा कि हमने आतंकवाद के खिलाफ अपनी गंभीरता को साबित कर दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आखिरकार माना पाक, वहीं रची गई साजिश