DA Image
23 फरवरी, 2020|10:49|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बंद से नेपाल में जनजीवन ठप

बंद से नेपाल में जनजीवन ठप

नेपाल में गहराते राजनीतिक संकट के बीच अनिश्चितकालीन देशव्यापी हड़ताल के पहले दिन रविवार को जनजीवन व्यापक रूप से प्रभावित हुआ। वहीं, प्रधानमंत्री माधव कुमार नेपाल के इस्तीफे की मांग तेज हो गई है और ऐसी खबरें हैं कि उनकी पार्टी के ही नेताओं ने उनके पद से हट जाने की मांग की है।

हजारों माओवादी रविवार को सड़कों पर उतर आए। माओवादी देश की मौजूदा गठबंधन सरकार को हटाने की मांग कर रहे हैं जिसे प्रधानमंत्री माधव कुमार नेपाल ने खारिज कर दिया है। माओवादियों का संसद की करीब 35 प्रतिशत सीटों पर कब्जा है। माओवादियों के आंदोलन को देखते हुए झड़पों की आशंका के मददेनजर सुरक्षा की विशेष व्यवस्था की गई थी। राजधानी काठमांडो के विभिन्न हिस्सों में सुबह से ही सरकार विरोधी नारों की गूंज के बीच कारखाने, बाजार, स्कूल और कालेज बंद रहे। माओवादियों ने जगह जगह प्रदर्शन किया जिससे वाहनों की आवाजाही बाधित हुई।

टेलीविजन पर राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने इस्तीफा देने से इंकार करते हुए संवाद की अपील की। उन्होंने कहा कि सभी दलों में आम सहमति ही एकमात्र विकल्प है जिससे आगे का मार्ग प्रशस्त होगा। इस बीच खबरें हैं कि सीपीएन-यूएलएल के करीब 60 वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी प्रमुख झालनाथ खनल को ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में प्रधानमंत्री के इस्तीफे की मांग की गई है ताकि देश में टकराव रोकने के लिए अनुकूल माहौल बन सके।

हिमालयन टाइम्स आनलाइन की खबर के अनुसार ज्ञापन में कहा गया है कि प्रधानमंत्री को पद से हट जाना चाहिए ताकि राजनीतिक गतिरोध को दूर करने का रास्ता बन सके। ज्ञापन में कहा गया है कि सरकार में बने रहना निर्थक है क्योंकि इससे संविधान का मसौदा तैयार नहीं हो सकता न ही शांति प्रक्रिया का तार्किक अंत हो सकता।

हालांकि एक अन्य खबर के अनुसार ज्ञापन में जिन नेताओं का नाम शामिल है उनमें से कइयों ने ज्ञापन को गंभीर षड्यंत्र बताया। कांतिपुर आनलाइन के अनुसार उन्न्होंने इस बात से इंकार किया कि उन्होंने ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। उधर नेपाल में संयुक्त राष्ट्र मिशन ने कहा कि वह मिशन के विस्तार पर जल्दी कोई फैसला करे। मिशन का कार्यकाल 15 मई को समाप्त हो रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:बंद से नेपाल में जनजीवन ठप