DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रैना के बरसने से भारत ने दर्ज की दूसरी जीत

रैना के बरसने से भारत ने दर्ज की दूसरी जीत

टवेंटी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतक जमाने वाले पहले भारतीय बने सुरेश रैना की आक्रामक पारी की बदौलत रनों का एवरेस्ट खड़ा करके टीम इंडिया ने विश्व कप ग्रुप सी के मैच में रविवार को दक्षिण अफ्रीका को 14 रन से हराकर लगातार दूसरी जीत दर्ज की।

पूर्व चैम्पियन ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पांच विकेट पर 186 रन बनाए। जवाब में दक्षिण अफ्रीका 20 ओवर में पांच विकेट पर 172 रन ही बना सका। अनुभवी जाक कैलिस ने 54 गेंद में 73 रन बनाकर टीम को मैच में लौटाने की कोशिश की लेकिन जीत तक नहीं ले जा सके।

इससे पहले रैना आज टवेंटी 20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतक जमाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज और दुनिया के तीसरे बल्लेबाज बन गए जिसकी पारी की बदौलत भारत ने पांच विकेट पर 186 रन बनाए। टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में वेस्टइंडीज के क्रिस गेल और न्यूजीलैंड के ब्रेंडन मैकुलम के बाद रैना शतक जमाने वाले तीसरे बल्लेबाज हैं।

इस मैच में अनफिट गौतम गंभीर नहीं खेल रहे हैं जबकि जहीर खान को आराम दिया गया है। छठे ओवर में भारत का स्कोर दो विकेट पर 32 रन था। इसके बाद रैना (101) और युवराज सिंह (37) ने पारी को संभाला।

मुरली विजय (0) और गंभीर की जगह खेल रहे दिनेश कार्तिक (16) सस्ते में आउट हो गए। रोरी क्लेनवेल्ट, डेल स्टेन, मोर्नी मोर्कल और एल्बी मोर्कल के चौतरफा तेज आक्रमण ने शुरुआती ओवरों में भारतीय बल्लेबाजों को खासा परेशान किया। नौ ओवर के बाद स्कोर दो विकेट पर 56 रन था। ऐसा लग रहा था कि भारत अच्छा स्कोर नहीं बना पाएगा लेकिन रैना और युवराज ने जरूरत के समय उम्दा पारी खेली। दोनों ने छक्के लगाकर दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया। तीसरे विकेट के लिए दोनों ने 88 रन जोड़े। युवराज ने 30 गेंद में 37 रन बनाए जिसमें तीन चौके और दो छक्के शामिल थे। क्लेनवेल्ट की गेंद पर ग्रीम स्मिथ ने उनका कैच लपका।

नए बल्लेबाज युसूफ पठान 18 रन बनाकर आउट हुए। क्लेनवेल्ट के 18वें ओवर में 25 रन बने। रैना ने इस ओवर में तीन चौके और एक छक्का लगाया। उसने एल्बी मोर्कल को मिडविकेट में छक्का लगाकर अपना शतक पूरा किया लेकिन अगली ही गेंद पर आउट हो गया। उसने अपनी 60 गेंद की पारी में नौ चौके और पांच छक्के लगाए। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर भारतीय पारी का समापन किया।

जवाब में दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत काफी धीमी रही। उसे पांचवें ओवर में ही पहला झटका लगा जब सलामी बल्लेबाज लूटस बोसमैन (8) को युसूफ पठान ने कवर्स में पीयूष चावला के हाथों लपकवाया। उस समय स्कोर 21 रन ही था।

इसके बाद कप्तान ग्रीम स्मिथ और कैलिस ने दूसरे विकेट के लिए 64 गेंद में 97 रन की साझेदारी की। खतरनाक हो रही यह साझेदारी 16वें ओवर में स्मिथ के रन आउट होने से टूटी। डीप बैकवर्ड स्क्वेयर लेग पर शाट खेलने वाले स्मिथ प्रवीण कुमार के सटीक थ्रो का शिकार हो गए। धोनी ने जब गिल्लियां बिखेरी तब वह क्रीज से दूर थे।

स्मिथ ने 28 गेंद में एक चौके और दो छक्कों की मदद से 36 रन बनाए। दूसरे छोर पर दीवार की तरह अडिग खड़े कैलिस भी अगले ओवर में चावला का शिकार हो गए जिससे दक्षिण अफ्रीका की रही सही उम्मीदें भी लगभग खत्म हो गई। कैलिस ने 54 गेंद में 73 रन बनाए जिसमें तीन चौके और तीन छक्के शामिल थे। वह लांग आन में ऊंचा शाट खेलने के प्रयास में जडेजा द्वारा लपके गए। एबी डिविलियर्स (31) और एल्बी मोर्कल (12) भी टिक नहीं सके और भारत को यह जीत दर्ज करने में कोई परेशानी नहीं हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रैना के बरसने से भारत ने दर्ज की दूसरी जीत