DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

न्यूजीलैंड दौरा : भज्जी की वापसी तय

यूजीलैंड का कठिन दौरा सामने है। भारतीय एकदिवसीय, टेस्ट और 20-20 मैचों के लिए भारतीय टीम का चयन राष्ट्रीय चयन समिति के अध्यक्ष कृष्णमचारी श्रीकांत की नगरी चेन्नई में होना है। दावेदार खिलाड़ी और उनके समर्थक गुरुवार की ‘कत्ल की रात’ करवटें बदलते हुए गुजारने के बाद इस बात का बेताबी से इंतजार कर रहे हैं कि, शुक्रवार का सूर्योदय किस-किस के लिए खुशखबरी लेकर आएगा। क्रिकेट प्रेमियों के बीच कयास जमकर लग रहे हैं, क्योंकि चयन समिति कोई भी गुल गिला सकती है। श्रीकांत के अध्यक्ष बनते ही तमिलनाडु के बल्लेबाज एम. विजय और तेज गेंदबाज लक्ष्मीपति बालाजी के अचानक भारतीय टीम में चयन का नजारा सभी देख चुके हैं। इसलिए अगर इस बार टीम में विकेट कीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक, रॉबिन उथप्पा और वसीम जाफर में से किसी की वापसी के साथ कोई नया चेहरा शामिल हो जाए तो आश्चर्य मत कीािएगा। हां, चोट के कारण श्रीलंका दौरे पर नहीं जा सके ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह की वापसी तय है। न्यूजीलैंड में पांच एकदिवसीय एवं दो 20-20 मैच और तीन टेस्ट मैचों की सीरीा के लिए टीम के चयन के लिए चयनकर्ताओं की बैठक तमिलनाडु क्रिकेट संघ (टीएनसीए) के परिसर में होगी। बैठक में चयन समिति के सदस्यों के साथ ही कप्तान महेंद्र सिंह धोनी हिस्सा लेंगे। टीम इंडिया ने इंग्लैड के खिलाफ टेस्ट सीरीज और पांच एकदिवसीय मैचों की सीरीज तथा श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज 4-1 और एकमात्र 20-20 मैच में जीत हासिल की है और ऐसी संभावना है कि चयन समिति वर्तमान टीम को ही बरकरार रखे। चयनकर्ताओं के पास बल्लेबाजी और तेज गेंदबाजी में अच्छे विकल्प हैं, लेकिन स्पिनरों में हरभजन, प्रज्ञान ओझा और अमित मिश्रा ही सामने हैं। हरभजन तो तीनों फॉर्मेट की टीम में फिट होंगे। वहीं मिश्रा टेस्ट और ओझा एकदिवसीय टीम में शामिल हो सकते हैं, लेकिन रवीन्द्र जडेाा को ऑलराउंडर के रूप में एकदिवसीय और 20-20 के लिए दावा मजबूत है, इसलिए उन्हें ड्रॉप भी किया जा सकता है। क्योंकि न्यूजीलैंड की पिचों पर स्पिनरों के लिए ज्याद कुछ रहेगा नहीं, इसलिए चयनकर्ता जडेाा के पक्ष में जा सकते हैं। तेज गेंदबाजों में मुनाफ पटेल और आर पी सिंह की फिटनेस देखकर ही चयनकर्ता कोई फैसला करंगे। इनके अनफिट होने का लाभ लक्ष्मीपति बालाजी को मिल सकता है। नई गेंद से गेंदबाजी करने के लिए चयनकर्ताओं की पहली पसंद जहीर खान, इशांत शर्मा और प्रवीण कुमार हैं, जबकि बालाजी और इरफान पठान क्रमश: चौथे और पांचवें गेंदबाज के रूप में शामिल हो सकते हैं। उल्लेखनीय है कि श्रीकांत के नेतृत्व में चयन समिति पहली बार विदेशी टेस्ट दौरे के लिए टीम का चयन करेगी। पचास दिन से अधिक लंबे दौरे को ध्यान में रखते हुए चयनकर्ता टीम में एक दूसरा विकेटकीपर भी शामिल करने पर विचार करंगे और इसके लिए दिनेश कार्तिक और पार्थिव पटेल का दावा मजबूत है। लेकिन बल्लेबाजी में कार्तिक के रन पार्थिव पर भारी पड़ रहे हैं। इसके अलावा एस. ब्रदीनाथ भी दौड़ में होंगे। वैसे चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे जसे उभरते बल्लेबाजों को इस दौर पर मौका मिलने के आसार कम ही हैं। टेस्ट सीरीज के लिए हरभजन और लेग स्पिनर अमित मिश्रा को टीम में शामिल करने के मामले में समिति को अधिक माथापच्ची नहीं करनी पड़ेगी क्योंकि इन दोनों ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में अच्छा प्रदर्शन किया था। इसके साथ ही रणजी आौर दलीप ट्रॉफी में अच्छे फार्म में रहे एस.बद्रीनाथ को रिजर्व खिलाडी़ के रूप में टीम में शामिल किया जा सकता है। खब्बू तेज गेंदबाज इरफान पठान और खब्बू स्पिनर प्रज्ञान ओझा का श्रीलंका दौर पर प्रदर्शन ठीक-ठाक रहा था। इरफान ने दो मैच खेले और 4 विकेट लिए थे। लेकिन उनके निचले क्रम में बल्लेबाजी करने की योग्यता को चयनकर्ता खास तवज्जो देंगे। श्रीलंका में 20-20 मैच में इरफान अपनी आक्रामक और समझदारी भरी बल्लेबाजी करने की क्षमता का परिचय दे चुके हैं। भारत के न्यूजीलैंड दौर की शुरुआत 20-20 अंतरराष्ट्रीय मैच से होगी। यह मैच क्राइस्टचर्च में 25 फरवरी को खेला जाएगा। दो दिन बाद दूसरा 20-20 अंतरराष्ट्रीय मैच वेलिंग्टन में 27 फरवरी को होगा। पहला एकदिवसीय मैच नेपियर में 3 मार्च को खेला जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: न्यूजीलैंड दौरा : भज्जी की वापसी तय