DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंचतंत्र और हितोपदेश में मैनेजमेंट की थ्योरी

पंचतंत्र और हितोपदेश के जरिये मैनेजमेंट की थ्योरी बतलायी गयी है। भारतीय परंपरा, चिंतन और पौराणिक आख्यानों-व्याख्यानों, लोक कथाओं, जातक कथाओं के सहार प्रबंधन के सूत्र प्रस्तुत किये गये हैं। जो किताबों की शक्ल अख्तियार कर पुस्तक मेले के स्टॉल्स में सजे हैं। जयपाल सिंह स्टेडियम में चल रहे पुस्तक मेले में देसी लेखकों द्वारा लिखी गयी मैनेजमेंट की पुस्तकों की बिक्री खूब हो रही है। विदेशी राइटर्स पर पर भारी पड़ रहे हैं देसी मैनेजमेंट गुरु। शिव खेड़ा, स्वाति शैलेश लोड़ा की पुस्तकें चर्चा में रहने के कारण अच्छी-खासी बिक रही हैं। सीबीआइ के पूर्व निदेशक जोगिंदर सिंह की पॉजिटिव थिंकिंग की काफी प्रतियां बिक चुकी हैं। विजय जोशी और एसके डोडेाा की किताबें भी खूब डिमांड में हैं। दूसरी ओर डेल कारनेगी, डेविड जे. श्वार्ट्स, नारमैन विन की किताबें भी अच्छा सेल कर रही हैं। इधर पुस्तक मेले के संयोजक राजेंद्र रंजन ने बताया कि मेले का समापन 15 फरवरी को होगा। उन्होंने बताया कि मेले में काफी संख्या में पुस्तक प्रेमी और स्टूडेंट्स पहुंच रहे हैं।ड्ढr करियर संबंधी पुस्तकों की है अच्छी डिमांड : पुस्तक मेले में करियर संबंधी पुस्तकों की अच्छी मांग है। उपकार प्रकाशन के स्टॉल में करियर से जुड़ी कई पुस्तकें उपलब्ध हैं। मेला परिसर में बने मंच पर शिवनाथ तिवारी गणित की समस्या और समाधान रोचक और ज्ञानवर्धक तरीके से लगातार देड्ढr रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पंचतंत्र और हितोपदेश में मैनेजमेंट की थ्योरी