DA Image
30 जनवरी, 2020|1:59|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

और कुसहा न हो, इसकी मशक्कत शुरू: तटबंध मरम्मत को 75 करोड़

ुसहा तटबंध के टूटने के बाद कोसी तटबंध पर और कुसहा न बने, इसके लिए राज्य सरकार ने तैयारी शुरू कर दी है। तटबंध के कटाव को रोकने के लिए जल संसाधन विभाग 75 करोड़ रुपए खर्च करगा। इसके लिए तटबंधों की मरम्मत करने के साथ-साथ डेढ़ दशक में अपनी पूरी क्षमता खो देने वाले स्परों को भी दुरुस्त किया जाएगा।खासकर संवेदनशील स्थानों की पहचान कर उन्हें दुरुस्त बनाने की योजना पर काम भी शुरू कर दिया है।ड्ढr ड्ढr पहली बार नेपाल प्रक्षेत्र में तटबंध को दुरुस्त करने के लिए 38 करोड़ रुपए दिए गए हैं, जबकि बिहार की ओर 37 करोड़ रुपए खर्च होंगे। विभाग द्वारा 32 किलोमीटर लंबे तटबंध की मॉनीटरिंग शुरू कर दी गई है और कमजोर स्थलों की पहचान कर वहां तत्काल काम प्रारंभ करने का निर्देश हुआ है। कोसी के दोनों तटबंधों को सुदृढ़ बनाने के लिए जल संसाधन विभाग ने मानसून के पहले काम पूरा कर लेने का लक्ष्य भी निर्धारित कर लिया है। कोसी नदी के 60 स्परों की स्थिति बदतर है। स्थिति ऐसी है कि 300 मीटर, 250 मीटर, 200 मीटर, 175 मीटर के डेढ़ दर्जन से अधिक स्पर कटकर पूरी तरह गायब हो चुके हैं। जबकि 380 मीटर के स्पर कटकर 60 और 65 मीटर रह गए हैं। इसी तरह एक किलोमीटर लंबे स्पर घटकर आधे रह गए हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: और कुसहा न हो, इसकी मशक्कत शुरू: तटबंध मरम्मत को 75 करोड़