DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुतालिकचाी का योगदान

यह निबंध बीए के उस छात्र की कापी से लिया गया है, जिसे निबंध प्रतियोगिता में प्रथम स्थान मिला है, निबंध का विषय था-वैलंेटाइन डे। वैलेंडाइन डे में दो शब्द हैं, वैलंेटाइन और डे। कुछ वैलेंटाइन कुछ डे के ही होते हैं, यह बात तो चांद मोहम्मद को देखकर समझ में आ जाती है, पर जो बात समझ मं नहीं आती, वह यह है कि वैलंेटाइन ड स नौजवान चुस्त, चौकस, कटिबद्ध, प्रतिबद्ध टाइप के बन रहत हैं। खास तौर पर व, अगर व मंगलूर मं हों, तो। मंगलूर के प्रमोद मुतालिक वैलेंटाइनी मामलों मं कहां किसको पीट दं, किस ठोंक द, इस आशंका मं ग्रस्त नौजवान प्रम स पूर्व तज भागन का, दूर स दखन का अभ्यास करन की ओर उन्मुख हो जात हैं। यानी ओवरवट लोगों के लिए प्रम नहीं है। प्रम खाला का घर नहीं है, यहां प्रचुर पिटाई ठुकाई के लिए तैयार नौजवान ही आग आयं, यह बात हमं एक बार फिर समझ मं आ जाती है। प्रमोद मुतालिक जी न साफ कर दिया है कि वैलेंटाइन ड पर प्रम सिर्फ पति और पत्नी ही कर सकत हैं। इसका घणा फायदा टीवी के दर्शकों को भी मिलन वाला है। एकता कपूरजी प्रति व्यक्ति कम स कम पांच प्रम जो दिखाया करती थीं, खास तौर पर दूसर के पति औऱ पत्नियों स, वह सब अब नयी मुतालिक गाइडलाइन्स के तहत खत्म हो चला है। अब झगड़ा सिर्फ सास बहू के बीच दिखाया जा सकता है। खबर है कि अब एकता जी हारर सीरियलों की ओर उन्मुख हो रही हैं। उनके आगामी सीरियलों मं इन सवालों के जवाब मिलन वाल हैं कि सास को भूत बनकर डरायं या बहू को यह कह कर डरायं कि सास की तीन बहनं और आन वाली हैं, जो अगल पांच सालों तक साथ ही रहंगी। खैर, बंेगलुरू के साफ्टवयर इंजीनियरों न मुतालिक स शिकायत की है कि उनकी शादी गाइडलाइन्स का उघंन लड़कियों द्वारा किया जा रहा है। इस गाइडलाइन को हालांकि एक तरह स लालूजी न भी एप्रूव किया है कि लड़कियों को शादी वहां करनी चाहिए, जहां परिवार वाल बतायं। अब कई मामलों मं लड़कियां कह रही हैं कि हम परिवार के बताय बंद स शादी करन को तैयार हैं, बशर्त वह साफ्टवयर इंजीनियर न हो। सत्यम और मंदी न साफ्टवयर इंजीनियरों को प्यार के मामल मं अति पिछड़ा वर्ग मं डाल दिया है, जिनके लिए आरक्षण की मांग उठाना भी मुतालिक का कर्तव्य बनता है। प्रम मं मुतालिक का इतना योगदान तो होना ही चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मुतालिकचाी का योगदान