DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीलंका ने ब्रिटिश दूत की नियुक्ित को ठुकराया

श्रीलंका ने देश के उत्तरी हिस्से में मानवीय हालात पर नजर रखने के लिए ब्रिटिश प्रधानमंत्री द्वारा विशेष दूत की नियुक्ति को खारिा कर दिया है। श्रीलंकाई सरकार क प्रवक्ता और मीडिया मंत्री अनुरा प्रियदर्शन यापा न शुक्रवार को संवाददाताओं स कहा, ‘हमारा मानना है कि श्रीलंका क लिए विशेष दूत नियुक्त करना अनावश्यक है। हमन ब्रिटिश उच्चायुक्त स अपनी अप्रसन्नता भी जाहिर कर दी है।’ उन्होंन कहा, ‘हम कोई उपनिवश नहीं हैं। श्रीलंका युद्ध स प्रभावित लागों की समस्याओं को सुलझान मं सक्षम है।’ इसस पहल ब्रिटन क प्रधानमंत्री गॉर्डन ब्राउन न पूर्व रक्षा मंत्री डस ब्राउन को उत्तरी श्रीलंका मं मानवीय हालात पर नजर रखन क लिए अपना विशेष दूत नियुक्त किया था। कोलंबो स्थित ब्रिटिश उच्चायोग न गुरुवार को एक बयान जारी कर कहा, ‘अपनी नई भूमिका मं डस ब्राउन उत्तरी श्रीलंका मं मौजूदा मानवीय हालात और विवाद क राजनीतिक समाधान पर ध्यान केंद्रित करंग।’ इस बयान मं 57 वर्षीय डस ब्राउन न कहा, ‘मैं श्रीलंका मं गंभीर मानवीय हालात को सुधारन और विवाद क राजनीतिक समाधान क लिए ब्रिटन क प्रयासों मं अपना योगदान दूंगा।’ गौरतलब है कि उनकी नियुक्ति विशष दूत क रूप मं उस समय की गई जब अंतरराष्ट्रीय स्तर इस बात को लेकर चिंता बढ़ गई थी कि श्रीलंका मं चल रही लड़ाई मं हाारों नागरिक फंस हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: श्रीलंका ने ब्रिटिश दूत की नियुक्ित को ठुकराया