DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दस कॉलेजों के प्रिंसिपल ब्लैक लिस्टेड

यूपी बोर्ड ने राजधानी के 10 इण्टर कॉलेजों के प्रधानाचार्योंकेन्द्र व्यवस्थापकों को काली सूची में डाल दिया है। अब अगले तीन वर्षो तक यह शिक्षक केन्द्र व्यवस्थापक व कक्ष निरीक्षक नहीं बन पाएँगे। पूरे प्रदेश में ऐसे 652 इण्टर इण्टर कॉलेजों के प्रधानाचार्य व केन्द्र व्यवस्थापक काली सूची में डाले गए हैं। इनमें से 28 प्रधानाध्यापक व केन्द्र व्यवस्थापक अकेले हरदोई जिले के हैं।ड्ढr बोर्ड परीक्षा में नकल कराने वाले शिक्षकों पर माध्यमिक शिक्षा परिषद ने पहली बार अपना शिकांा कसा है। पिछले एक दो वर्षो में जिन विद्यालयों में सामूहिक नकल पकड़ी गई थी इस बार उन विद्यालयों को काली सूची में डालने के बजाय यह ‘तमगा’ केन्द्र व्यवस्थापकों को मिला है। इन्हें मूल्यांकन तक से दूर रखा जाएगा। दो दिन पहले बोर्ड प्रदेश के सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को ऐसे केन्द्र व्यवस्थापकों व प्रधानाचार्यो की सूची भेज दी। राजधानी लखनऊ के 10 इण्टर कॉलेजों के प्रधानाचार्य व केन्द्र व्यवस्थापक भी नकल कराने के दोषी पाए गए हैं। पटेल आदर्श इण्टर कॉलेज रेलवे कॉलोनी बालागंज, दिगम्बर जन इण्टर कॉलेज चौक के केन्द्र व्यवस्थापक डॉ. एन.वी.सिंह, लाला राम स्वरूप शिक्षा संस्थान बंथरा, रामपाल त्रिवेदी इण्टर कॉलेज गोसाईगंज, बाबा ठाकुरदास इण्टर कॉलेज घसियारी मण्डी, नन्हें सिंह स्मारक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय माल तथा पटेल आदर्श उच्चतर माध्यमिक विद्यालय ऐन के केन्द्र व्यवस्थापकों एवं नव जागृति उच्चतर माध्यमिक विद्यालय खुर्द मलिहाबाद, इन्दिरा पब्लिक इण्टर कॉलेज मशालची टोला व बाल विद्या निकेतन गर्ल्स इण्टर कॉलेज टीपीनगर के प्रधानाचार्यो के खिलाफ कार्रवाई हुई है। इन प्रधानाचार्यो व केन्द्र व्यवस्थापकों को बोर्ड परीक्षाओं से पूरी तरह से दूर रखा जाएगा। बोर्ड के उप सचिव ने ब्लैक लिस्टेड शिक्षको की सूची गुरुवार को सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को भेज दी।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दस कॉलेजों के प्रिंसिपल ब्लैक लिस्टेड