DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दीक्षांत समारोह में डिग्रियों की संख्या सीमित होगी

रांची यूनिवर्सिटी के वीसी प्रो एए खान ने कहा है कि अब दीक्षांत समारोह में सीमित संख्या में डिग्रियां दी जायेंगी। उन्होंने कहा कि प्रतिवर्ष विवि में 16 हजार से ज्यादा विद्यार्थी उत्तीर्ण होते हैं। सबको एक साथ दीक्षांत समारोह में डिग्रियां देना संभव नहीं है। दीक्षांत समारोह में दी जानेवाली डिग्रियों की संख्या निर्धारित करने की प्रक्रिया शुरू हो गयी है। समारोह में कुछ प्रमुख डिग्रियां और गोल्ड मेडल ही दिये जायेंगे। शेष डिग्रियां सीधे कॉलेजों को भेज दी जायेंगी।ड्ढr उन्होंने कहा कि अब दीक्षांत समारोह में सिर्फ पीएचडी, डी-लिट और एमफिल की डिग्रियां और स्नातक एवं स्नातकोत्तर के सभी विषयों के टॉपरों को गोल्ड मेडल दिये जायेंगे।ड्ढr परड में भाग लानेवाले छात्र होंगे सम्मानित : रांची यूनिवर्सिटी एनएसएस एवं झारखंड एड्स कंट्रोल सोसाइटी द्वारा संयुक्त रूप से यूनिवर्सिटी के सेंट्रल लाइब्रेरी हाल में 14 फरवरी को एड्स नियंत्रण पर ओरिएंटेशन प्रोग्राम का आयोजन किया जायेगा। कार्यक्रम दिन के 11 बजे से शुरू होगा। इसमें कई कॉलेजों के स्वयंसेवक भाग लेंगे। साथ ही कार्यक्रम में गणतंत्र दिवस के परड में भाग लेनेवाले रांची यूनिवर्सिटी एनएसएस के छात्रों को सम्मानित किया जायेगा। यूनिवर्सिटी के एनएसएस कॉर्डिनेटर डॉ पीके झा के अनुसार सम्मानित होनेवाले छात्रों में दुधेश्वर पुरन (पीपीके कॉलेज बुंड़ू), शिवानी नाग (पीपीके कॉलेज बुंडू), गोरिती तिग्गा (निर्मला कॉलेज) एवं कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ ब्रजेश कुमार (बीएस कॉलेज लोहरदगा) शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दीक्षांत समारोह में डिग्रियों की संख्या सीमित होगी