DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरस मेले में पहुंचे मंत्री पर ग्राहक नहीं

वसंत सरस मेले के छह दिन बीत गए, लेकिन अब भी कई स्टॉल पर बिक्री नहीं हुई। इक्का-दुक्का लोग ही यहां मोल-भाव करते दिखे, लेकिन वे बगैर कुछ खरीदे आगे बढ़ लिए। हालांकि शुक्रवार को मेले में अन्य दिनों की अपेक्षा अधिक भीड़ रही। देर शाम सूबे के ग्रामीण विकास मंत्री भगवान सिंह कुशवाहा, भाजपा सांसद रविशंकर प्रसाद व कपिलदेव प्रसाद सिंह भी मेले में पहुंचे और कई स्टॉल को निरीक्षण किया।ड्ढr ड्ढr सिलीगुड़ी से बेंत के सामान के साथ आए आनंद दास, केरल के त्रिषुर से साड़ियों के साथ पहुंचे मणि, केरल के ही शिवानंद और चंदेरी (मध्य प्रदेश) के भागचंद को ग्राहकों का इंतजार है। यही हाल भदोही के कालीन और सहारनपुर के फर्नीचर विक्रताओं का भी है। हैंडलूम के स्टॉल पर पहुंचे राजकुमार का कहना था कि मेले में बिक्री पर कर्मचारियों की हाल ही में खत्म हुई हड़ताल का असर है। हालांकि आयोजकों का दावा है कि अब तक नौ लाख रुपए की बिक्री हो चुकी है। दूसरी ओर, लहठी-चूड़ी और अन्य सजावटी सामान के स्टॉल पर खरीदारों की खासी भीड़ रही। आचार-मुरब्बों और अमरुद की टॉफी की भी डिमांड है। मेले में आए लोगों के मनोरांन के लिए गीत-संगीत के साथ ही नुक्कड़ नाटक ‘पंच लाइट’ का मंचन भी किया गया। गनौरी साहनी के आल्हा और भिखारी ठाकुर के नाटक ‘बेटी वियोग’ की भी मार्मिक प्रस्तुति की गई। मेले के नारायणी सभागार में महिला सशक्तीकरण पर सेमिनार भी आयोजित किया ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सरस मेले में पहुंचे मंत्री पर ग्राहक नहीं