DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेरा बेटा आत्महत्या नहीं कर सकता

पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (पीजीआईएमईआर) में एक चिकित्सक की मौत के मामले में उनके पिता ने आरोप लगाया है कि कुछ सीनियर छात्र उनके बेटे को प्रताड़ित करते थे और यह मामला आत्महत्या का नहीं है।

बेंगलुरू से संबंध रखने वाले डॉक्टर नागेंद्र रेड्डी का शव सोमवार को संस्थान के पार्किग में मिला था।

पुलिस ने फॉरेंसिक विशेषज्ञों से मौके से सुराग जुटाने के लिए कहा है। पुलिस को कोई स्युसाइड नोट नहीं मिला है हालांकि वह इसे आत्महत्या का मामला मानने से इंकार नहीं कर रही है। बेंगलुरू से सोमवार शाम को चंडीगढ़ पहुंचे रेड्डी के माता-पिता ने आत्महत्या की संभावना से इंकार किया है और मामले की विस्तृत जांच कराने की मांग की है।

रेड्डी के पिता अयप्पा रेड्डी ने कहा, ‘‘नरेंद्र एक अच्छा छात्र होने के साथ-साथ बहादुर इंसान भी था। वह कभी आत्महत्या नहीं कर सकता। उसने अपनी मां से कहा था कि कुछ सीनियर छात्र उसे परेशान करते हैं। इस पर हमने उससे लौट आने के लिए भी कहा था।’’

उन्होंने कहा, ‘‘उसने टिकट भी ले लिया था इसलिए हम आत्महत्या करने की बात पर भरोसा नहीं कर सकते। हमने यहां के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से मुलाकात करके मामले की जांच करने की मांग उठाई है।’’ नागेंद्र जनवरी में चंडीगढ़ आया था और सेक्टर-12 स्थित पीजीआईएमईआर परिसर में चिकित्सकों के छात्रावास में रह रहा था।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘‘हमारी नजर मामले के कई पहलुओं पर है और हम पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं।’’ अधिकारी ने बताया, ‘‘उसके कमरे की तलाशी के दौरान हमें उसका लैपटॉप चालू अवस्था में मिला। हमारे साइबर अपराध दल ने उसे जब्त कर लिया है और उसमें से सूचनाएं खंगाल रहे हैं।’’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेरा बेटा आत्महत्या नहीं कर सकता