DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक राष्ट्रपति के अधिकारों में कटौती वाला विधेयक बना कानून

पाक राष्ट्रपति के अधिकारों में कटौती वाला विधेयक बना कानून

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने सोमवार को उस ऐतिहासिक विधेयक पर हस्ताक्षर कर उसे कानून में तब्दील कर दिया जिसके तहत बतौर राष्ट्राध्यक्ष उनकी असीम शक्तियां छीन ली जाएंगी। जरदारी ने कहा कि इससे पाकिस्तान में तानाशाही को उभरने से रोकने में मदद मिलेगी।

जरदारी ने 18वें संविधान संशोधन के ऐतिहासिक विधेयक पर हस्ताक्षर कर दिये। हस्ताक्षर समारोह में प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी और पीएमएल एन प्रमुख नवाज शरीफ ने भाग लिया।

इस विधेयक को संसद के दोनों सदनों में पिछले सप्ताह दो तिहाई बहुमत से पारित कराया गया था। इस विधेयक पर राष्ट्रपति के हस्ताक्षर कर देने के बाद सेना के तीनों अंगों के प्रमुखों को नियुक्त करने, संसद भंग करने और निर्वाचित प्रधानमंत्री को अपदस्थ करने की राष्ट्राध्यक्ष की शक्तियां वापस ले ली जायेंगी।

जरदारी ने अपने संबोधन में कहा कि मुझे उम्मीद है कि तानाशाही करने के लिये दरवाजे अब हमेशा के लिये बंद कर दिये गये हैं। अब कोई भी संविधान को क्षति पहुंचाने के बारे में नहीं सोचे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाक राष्ट्रपति के अधिकारों में भारी-कटौती वाला विधेयक बना कानून