DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोच्चि विवाद: आईपीएल संचालन परिषद करेगा बैठक

कोच्चि विवाद: आईपीएल संचालन परिषद करेगा बैठक

कोच्चि फ्रेंचाइजी के मालिकाना हक को लेकर उठा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा और टूर्नामेंट के आयुक्त ललित मोदी के टिवटर पर इस फ्रेंचाइजी के शेयरधारकों के प्रतिशत बताने के बाद आईपीएल की संचालन परिषद के सदस्य पहली बार यहां अनौपचारिक बैठक करेंगे।

आईपीएल के शीर्ष अधिकारी यहां धर्मशाला में एक अकादमी के उद्घाटन के दौरान एकत्रित होंगे, जिससे मोदी के पर कतरे जाने के संकेतों के बीच उन्हें इस मुद्दे पर विस्तार से चर्चा करने का मौका मिल सकता है। ऐसा माना जा रहा है कि परिषद मोदी के काम करने के तरीके से नाखुश है क्योंकि इससे कई बार काफी विवाद उठ चुका है और इन सबमें सबसे नुकसानदायक कोच्चि आईपीएल नीलामी विवाद रहा है।

मोदी विदेश राज्य मंत्री शशि थरूर से हुई शाब्दिक जंग के बाद इन विवादों और आयकर अधिकारियों के छापे से बिलकुल भी चिंतित नहीं दिख रहे हैं, उनके भी यहां उपस्थित होने की उम्मीद है लेकिन वह इस बैठक में मौजूद होंगे या नहीं, इसकी जानकारी नहीं है।

बीसीसीआई के एक शीर्ष सूत्र ने कहा कि संचालन परिषद के ज्यादातर सदस्य यहां मौजूद होंगे और इस मुद्दे पर अनौपचारिक तौर पर चर्चा की जाएगी। इससे आईपीएल की संचालन परिषद की आईपीएल के तीसरे चरण के 25 अप्रैल को समाप्त होने के बाद होने वाली बैठक के लिए मंच तैयार हो जाएगा।
 
बीसीसीआई अध्यक्ष शशांक मनोहर, सचिव एन श्रीनिवासन, आईपीएल उपाध्यक्ष निरंजन शाह, मीडिया और वित्त समिति के अध्यक्ष राजीव शुक्ला और परिषद के सदस्य चिरायू अमीन और अरुण जेटली के यहां मौजूद होने की उम्मीद है।

मोदी शुक्रवार दोपहर रवाना हुए और उन्होंने गागल हवाईअड्डे पर पत्रकारों से कहा कि कोई भी विवाद नहीं है और इस मुद्दे पर सदस्यों के बीच कोई भी विशेष बैठक नहीं होगी। मोदी ने कहा कि हम एक पारदर्शी संस्था हैं और हमारे पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है। उन्होंने कहा कि वह किंग्स इलेवन पंजाब और डेक्कन चार्जर्स के बीच मैच देखने के लिए बेताब हैं तथा इस स्टेडियम को क्रिकेट सेंटर के रूप में बढ़ावा दे रहे हैं।

मोदी ने भरोसा जताया कि शशांक मनोहर को आईपीएल का सह अध्यक्ष बनाकर बीसीसीआई उनके पर कतरने की तैयारी में नहीं है। उन्होंने कहा कि मैं संवैधानिक दायरे के तहत अभी तक अध्यक्ष हूं। अभी तक सह अध्यक्ष का कोई पद नहीं है। हम इससे निपट लेंगे। यह बीसीसीआई और आईपीएल का आपसी मामला है।

मोदी ने स्वीकार किया कि कार्यशैली को लेकर बीसीसीआई में मतभेद है। उन्होंने कहा कि मतभेद पहले भी रहे हैं और भविष्य में भी होंगे, लेकिन हम आईपीएल को ढर्रे से उतरने नहीं देंगे। हमने मिलकर इसे बनाया है और इसकी रक्षा करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोच्चि विवाद: आईपीएल संचालन परिषद करेगा बैठक