DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत-पाक का दुश्मन तालिबान

अमेरिका ने सोमवार को कहा कि पाकिस्तान अफगान सीमा विशेषकर स्वात घाटी में तालिबान गुटों के लिए संगठित होने से केवल पाकिस्तान ही नही बल्कि भारत और अमेरिका को भी बड़ा खतरा है।ड्ढr अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बारे में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के विशेष दूत रिचर्ड होलब्रुक ने यहां विदेशमंत्री प्रणव मुखर्जी से विचार-विमर्श के बाद संवाददाताओं से कहा कि स्वात घाटी में तालिबान तत्वों का दबदबा चिंता का विशेष कारण है।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि पाकिस्तान और भारत की आजादी के 60 वर्षो के दौरान उपमहाद्वीप को इतना बड़ा खतरा पहले कभी नहीं हुआ था। उन्होंने कहा कि तालिबान तत्वों से पाकिस्तान और अमेरिका के नेतृत्व, राजधानियों और आवाम को खतरा है। होलब्रुक पाकिस्तान और अफगानिस्तान की यात्रा के बाद नई दिल्ली आए है। उन्होंने पाकिस्तान और अफगानिस्तान में वहां के राजनीतिक और सैनिक नेताओं के साथ तालिबान और अलकायदा तत्वों से निबटने के तौर-तरीकों पर विचार किया।ड्ढr उन्होंने कहा कि वह राष्ट्रपति ओबामा और विदेशमंत्री हिलेरी क्िलंटन को अपनी यात्रा के निष्कर्षों से अवगत कराएंगे। उल्लेखनीय है ओबामा ने अफगानिस्तान, पाकिस्तान में आतंकवादी खतरे का सामना करने को अपनी विदेश नीति का प्रमुख लक्ष्य बनाया है तथा अमेरिका इस क्षेत्र में बड़ी संख्या में सैनिक भेजने पर विचार कर रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारत-पाक का दुश्मन तालिबान