DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईचाीआईएमएस को मिले 8 करोड़

विकास योजनाओं के लिए जमीन अधिग्रहण की राह हुई आसान। भूमि बैंक बनाने के लिए सरकार ने 203 करोड़ रुपये की तत्काल व्यवस्था कर दी है। सोमवार को इसे कैबिनेट की मंजूरी मिल गयी। कैबिनेट ने अगले वित्तीय वर्ष के लेखानुदान और तृतीय अनुपूरक बजट समेत विधानमंडल के संयुक्त सत्र के लिए राज्यपाल के अभिभाषण पर भी मुहर लगा दी है।ड्ढr ड्ढr जिला परिषद कर्मचारियों के वेतन के लिए 13 करोड़ 67 लाख रुपये दिये गये। कैमूर के मोहनिया में भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम (कानपुर) की नयी इकाई खुलेगी। घुसखोरों पर कार्रवाई पर तेजी लाने के लिए निगरानी विभाग में विभिन्न पदों पर 41 कर्मियों की बहाली होगी। कैबिनेट सचिव गिरीश शंकर ने बताया कि सरकार बिहार राजकोषीय उत्तरदायित्व और बजट प्रबंधन अधिनियम 2006 में संशोधन करगी। इसके प्रारूप को मंजूरी मिल गयी है। अब इस संशोधन प्रस्ताव को विधानमंडल में पेश किया जायेगा। इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (शेखपुरा) में उपकरणों की खरीद और मशीनों की मरम्मत के लिए आठ करोड़ लाख रुपये, गया, सारण, मुंगेर और पूर्णिया में पंचायत राज प्रशिक्षण संस्थानों को पुनर्जीवित करते हुए वहां एक-एक प्राचार्य, चार-चार व्याख्याता, दो-दो लिपिक और आदेशपाल की तैनाती के लिए 51 लाख 38 हजार रुपये, संजय गांधी गव्य तकनीकी संस्थान के विकास के लिए 11 करोड़ 85 लाख रुपये, अरवल में जिला पंचायत राज कार्यालय की स्थापना के लिए छह लाख 40 हजार रुपये दिये गये हैं। कैबिनेट ने खान एवं भूतत्व निरीक्षक सेवा नियमावली, 200ो मंजूरी दे दी है। ड्ढr श्रीकांत को राजेंद्र माथुर पुरस्कार कई और होंगे सम्मानितड्ढr पटना (हि.प्र.)। राज्य सरकार से पर्याप्त राशि नहीं मिलने के कारण इस वर्ष भी कई पत्रकार व लेखक राष्ट्रभाषा पुरस्कार पाने से वंचित रह जाएंगे। पिछले तीन वर्षो से राष्ट्रभाषा पुरस्कार नहीं बंटे हैं। लेकिन राष्ट्रभाषा परिषद ने निर्णय लिया है कि 22 फरवरी को 0 पत्रकार व लेखकों को राष्ट्रभाषा पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। जिन लोगों को पुरस्कार से नवाजा जाएगा उन्हें पत्र भेजकर सूचित कर दिया गया है।ड्ढr ड्ढr 22 फरवरी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन लोगों को सम्मानित करंगे। परिषद के विश्वस्त सूत्रों के अनुसार पत्रकारिता के क्षेत्र में राजेन्द्र माथुर पुरस्कार साधना न्यूज चैनल के हेड प्रभात डबराल व दैनिक हिन्दुस्तान के वरीय पत्रकार श्रीकांत को मिलेगा। राशि नहीं मिलने के कारण तृतीय पुरस्कार की घोषणा अभी नहीं की जाएगी। साहित्य पुरस्कार में डा. शंकर प्रसाद, सियाराम तिवारी, डा. गनौरी महतो सहित अनेक साहित्यकार व लेखक सम्मानित किए जाएंगे। हालांकि इसकी अधिकारिक घोषणा अभी तक नहीं की गई है। शिखर सम्मान देने का निर्णय अभी तक नहीं किया गया है। राष्ट्रभाषा परिषद के निदेशक प्रो. रामबुझाबन सिंह ने कहा कि अन्य पुरस्कारों की घोषणा शीघ्र की जाएगी।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आईचाीआईएमएस को मिले 8 करोड़