DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब मोबाइल पर दागियों के रिकॉर्ड

लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया शुरू होते ही अगर आपके मोबाइल पर उम्मीदवारों की आपराधिक रिकॉर्ड से संबंधित कोई मैसेज आए तो चौंकिएगा नहीं। इस तरह के संदेशों में आपके क्षेत्र के सभी उम्मीदवारों के साथ ही देश के अन्य क्षेत्रों के उम्मीदवारों के आपराधिक रिकॉर्ड का भी कच्चा चिट्ठा हो सकता है। चुनावों पर नजर रख रखी स्वच्छिक संस्था नेशनल इलेक्शन वॉच (न्यू) इस बार हर उम्मीदवार के बार में तमाम जानकारियां जुटा रही हैं। संस्था ने चुनाव प्रक्रिया शुरू होने पर इनके बार में सूचना के विभिन्न माध्यमों से जनता को पूरी जानकारी उपलब्ध कराने की योजना बनाई है। इनमें मोबाइल, इंटरनेट अखबार तथा टीवी चैनलों का इस्तेमाल किया जाएगा। न्यू के अनिल बेरवाल बताते हैं कि पिछले महीने मुंबई में इस बार में आयोजित सम्मेलन में निर्णय लिया गया था और एक सप्ताह में आंधप्रदेश और उड़ीसा में भी इस तरह के सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे। इन दोनों राज्यों में लोकसभा और विधानसभा के चुनाव साथ ही होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि इस अभियान में 1200 से अधिक स्वैच्छिक संगठन जुड़ गए हैं जो 28 राज्यों का प्रतिनिधित्व करते हैं। इन सबों ने किए गए कार्यो और अनुभवों से इनका आकलन किया है कि लोग सबसे पहले जन प्रतिनिधि के काबिल और ईमानदार होने की मांग करते हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब मोबाइल पर दागियों के रिकॉर्ड