DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चिासके पास सोना उसकी चांदी

सोने ने मंगलवार को 15,420 रुपए का सर्वकालीन स्वर्णशिखर प्राप्त कर लिया। पिछले करीब एक पखवाड़े से सोने की 15,000 के आंकड़े को लेकर आंख-मिचौली चल रही थी। सुबह से माहौल सोने के लिए गरम नजर आ रहा था। जसा कि सर्वविदित है कि बुरी खबर का सोने को हमेशा इंतजार रहता है। रात को अमेरिकी बाजार के 2साल की तलहटी देखने और सुबह जापान की आर्थिक स्थिति 12.7 फीसदी गिरने की खबर से तेजड़ियों को बल मिला और उनका खेल शुरू हो गया। अंतरिम बजट से निराशा हाथ लगने के कारण शेयर बाजार ने भी आग में घी का काम किया। डीलरों के मुताबिक शेयर और मुद्रा बाजार का निराशाजनक साया सोने में तेजी का कारण बना है। विशेषज्ञों की राय में जल्दी ही सोना 16,000 रुपये का नया रिकॉर्ड बना सकता है। सोना बना निवेशकों का साथी मंगलवार को बुर वक्त का साथी कहा जाने वाला सोना अंतरराष्ट्रीय बाजार में 0 डॉलर प्रति औंस तक पहुंच गया। सोने ने पिछले कुछ वर्षो से नई ऊंचाईयां छूने का क्रम बना रखा है। पिछले एक साल से तो सोना पांच अंकों में ही घूम रहा है। जनवरी 08 में शेयर बाजार की जो पिटाई शुरू हुई उसके बाद यह 11,0 रुपये (प्रति दस ग्राम) से चढ़ता हुआ अक्तूबर 08 में 14,050 का भाव छू आया। वैश्विक मंदी और विदेशी निवेशकों की शेयर बाजार में जबरदस्त बिकवाली ने सोने को हवा दी। पिछले एक वर्ष में शेयर बाजारों में आई 50 फीसदी से ज्यादा की गिरावट और रियल एस्टेट की मंदी ने भी सोने में निवेश को भड़काया। मांग नदारद, पर भाग रहा है सोना मजे की बात यह है कि सोने के मूल्यों में यह उछाल तब है जबकि इसकी मांग में काफी कमी बताई जा रही है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक चालू वर्ष के जनवरी माह में ही सोने का आयात 0 प्रतिशत गिरकर मात्र 1,200-1,800 किलोग्राम रह गया। जबकि पिछले वर्ष इस अवधि में 18,000 किलोग्राम सोने का आयात किया गया था। साल में 800 टन सोने की खपत वाले हमार देश में 2008 में सोने का आयात 47 प्रतिशत की गिरावट के साथ 402 टन पर सिमटकर रह गया है। दुनिया में कितना सोना नवम्बर 2005 के एक अनुमान के अनुसार दुनिया में 1,40,000 टन सोना है। इस आधार पर तब के डॉलर के भाव पर इस सार सोने की कीमत 18.खरब डॉलर बैठती थी। मंगलवार को सुबह के सोने के अंतराष्ट्रीय भाव 0 के आधार पर इस सार सोने की कीमत है 4,504,403,17डॉलर (45.04 खरब डॉलर)। ई-गोल्ड का है जमाना सोना खरीदना और बेचना किसी जमाने में झंझट वाला काम माना जाता था। आज आम निवेशक भी सोने में खरीद-फरोख्त कर सकता है। इसके लिए खोलना होगा एक डीमैट एकाउंट। इसमें सोने की 1 ग्राम की मात्रा भी खरीदी जा सकती है। इसे गोल्ड ईटीएफ कहा जाता है यानी एक्सचेंज ट्रेडिड फंड।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चिासके पास सोना उसकी चांदी