DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चैलेंजर्स ने निकाली रॉयल्स की नवाबी

चैलेंजर्स ने निकाली रॉयल्स की नवाबी

गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के बाद केविन पीटरसन (62) के धुआंधार अर्धशतक की बदौलत रायल चैलेंजर्स बेंगलूर ने बुधवार को राजस्थान रायल्स को पांच विकेट से हराकर सेमीफाइनल की अपनी उम्मीदों की लौ जलाए रखी।

इस जीत के साथ चैलेंजर्स के 13 मैचों से 14 अंक हो गए हैं और अंकतालिका में दूसरे स्थान पर पहुंचने के साथ ही सेमीफाइनल में उसकी दावेदारी मजबूत हुई है जबकि रायल्स का शाही सफर लगभग थम सा गया है। पहले आईपीएल के विजेता रायल्स के 13 मैचों से 12 अंक रह गए हैं और वह तालिका में पांचवें स्थान पर है।

चैलेंजर्स ने युवा गेंदबाज पंकज सिंह की अगुआई में गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत रायल्स को छह विकेट पर 130 रन के मामूली स्कोर पर रोक दिया और बाद में बवंडर की रफ्तार वाली पीटरसन की पारी के दम पर 26 गेंदें शेष रहते पांच विकेट पर 132 रन बनाकर मैच जीत लिया।

पंकज ने टी 20 के दौर में गुमनाम हो चुके मेडन ओवर को भी जिंदा किया और चार ओवर में 27 रन देकर दो विकेट लिए। उनका एक ओवर मेडन रहा। पुछल्ले बल्लेबाजों एडम वोजेस (नाबाद 28) और अभिषेक राउत (नाबाद 32) के संघर्ष के बावजूद राजस्थान रायल्स 130 रन ही बना सकी।
 
पिछले साल की उपविजेता रायल चैलेंजर्स के लिए अच्छी बात यह है कि उसने 26 गेंद शेष रहते हुए जीत दर्ज की जिससे उसका नेट रन रेट प्लस 0.467 पर पहुंच गया है जो मुंबई को छोड़कर अन्य सभी टीमों से बेहतर है।

रायल चैलेंजर्स की भी शुरुआत अच्छी नहीं रही और उसकी रन मशीन जाक कैलिस बिना खाता खोले कामरान खान की गेंद पर बोल्ड हो गए। इससे पीटरसन को क्रीज पर उतरने का मौका मिला और वार्न के इस पुराने मित्र ने इसके बाद रायल्स के गेंदबाजों की बखिया उधेड़ने में देर नहीं लगाई।

पीटरसन ने वाटसन पर दो चौके जमाकर शुरुआत की और फिर कामरान की विशेष खबर ली। उनके एक ओवर में दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने तीन चौके लगाने के बाद मिडविकेट पर छक्का भी जमाया। दूसरे छोर पर मनीष पांडे (14) भी हाथ खोलने के मूड में दिखे लेकिन सिद्धार्थ त्रिवेदी पर दो चौके जड़ने के बाद वह इसी ओवर में यूसुफ पठान को कैच दे बैठे।

पीटरसन पर इसका कोई असर नहीं पड़ा और जब वोजेस गेंदबाजी के लिए आए तो उन्होंने चार चौके जड़कर उनका स्वागत किया। हैंपशर के अपने पूर्व कप्तान वार्न पर उन्होंने चौके के बाद छक्का जमाया लेकिन यह दिग्गज लेग स्पिनर इसी ओवर में रोबिन उथप्पा (26) को स्टंप आउट करवाने में सफल रहा। उथप्पा ने वार्न के इससे पहले के ओवर में छक्का जमाकर आईपीएल थ्री में सर्वाधिक छक्के जड़ने का रिकार्ड अपने नाम किया था।

पीटरसन भी कुछ देर बाद रन आउट होकर डगआउट में चले गए जबकि विराट कोहली (14) को त्रिवेदी ने अपना दूसरा शिकार बनाया लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। रोस टेलर (नाबाद 10) ने त्रिवेदी पर विजयी छक्का लगाया।

इससे पहले रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने अनुशासित गेंदबाजी के दम पर राजस्थान रॉयल्स को छह विकेट पर 130 रन ही बनाने दिए। शेन वार्न का टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला सही नहीं रहा और सवाई मानसिंह स्टेडियम में दर्शकों ने अधिकतर समय उनके बल्लेबाजों को जूझते हुए देखा। रॉयल्स के चोटी के छह बल्लेबाज 14वें ओवर में 72 रन के स्कोर पर डगआउट में पहुंच गए थे। वह अभिषेक राउत (नॉटआउट 32) और एडम वोजेस (नॉटआउट 28) के डेथ ओवरों में जुटाए गए रनों की बदौलत ही सम्मानजनक स्कोर तक पहुंच पाया।

रॉयल चैलेंजर्स के गेंदबाजों की तारीफ करनी होगी जिन्होंने रॉयल्स के बिग हिटर शेन वाटसन और यूसुफ पठान को भी खुलकर नहीं खेलने दिया। रणजी ट्रॉफी में राजस्थान का प्रतिनिधित्व करने वाले पंकज सिंह बेंगलुरु की तरफ से सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने चार ओवर में एक मेडन ओवर किया तथा 27 रन देकर दो विकेट लिए। उनके अलावा डेल स्टेन ने 15 रन देकर पठान का कीमती विकेट लिया जबकि जॉक कैलिस ने 19 रन के एवज में वाटसन को डगआउट में भेजा।

रॉयल्स को सबसे अधिक पीड़ा चौथे ओवर में पहुंची जिससे वह आखिर तक नहीं उबर पाया। आर विनयकुमार के इस ओवर में माइकल लंब (9) आपस में तालमेल नहीं होने के कारण रन आउट हुए जबकि अपना पहला मैच खेल रहे अमित पौनीकर ने जो पहली गेंद खेली उसी पर विकेटकीपर रोबिन उथप्पा को कैच दे दिया।

पंकज ने अपनी दूसरी गेंद पर ही नमन ओझा (7) को हवा में लहराता कैच देने के लिए मजबूर किया और स्कोर तीन विकेट पर 21 रन हो गया। अब वाटसन और अभिषेक झुनझुनवाला (13) क्रीज पर थे, लेकिन रन बनाना उनके लिए भी आसान नहीं रहा और टीम ने 50 रन तक पहुंचने में 56 गेंद खेली। वाटसन ने कुंबले पर लगातार दो चौके जमाए, लेकिन कैलिस के दूसरे ओवर की पहली गेंद पर वह सही ढंग से पुल नहीं कर पाए और पीटरसन को कैच दे बैठे। वाटसन ने 25 गेंद पर 22 रन बनाए जिसमें तीन चौके शामिल हैं।

पंकज ने अगले ओवर में झुनझुनवाला को डगआउट में पहुंचा दिया, लेकिन अभी पठान दूसरे छोर पर थे जो पल भर में मैच का नक्शा पलटने का माद्दा रखते हैं। पठान ने पंकज के इसी ओवर की अंतिम दो गेंद पर चौके जमाए। इनमें से दूसरे चौके से उन्होंने आईपीएल में 1000 रन भी पूरे किए लेकिन स्टेन की आउटस्विंग ने उनके विकेट उखाड़ दिए और इस तरह से यह धुरंधर नौ गेंद पर केवल 11 रन बना पाया।

वोजेस और राउत ने संभलकर खेलने को तरजीह दी। राउत ने अंतिम ओवर में विनयकुमार की गेंद पर पारी का पहला छक्का जमाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चैलेंजर्स ने निकाली रॉयल्स की नवाबी