DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सकारात्मक ऊर्जा

क्या ऑफिस में काम के दौरान आपको कुछ-कुछ समय बाद बोरियत महसूस होने लगती है। क्या आप हर समय खुद को थका और कम ऊर्जावान पाते हैं? क्या आपको एकाग्रचित्त होने में परेशानी होती है? यदि इन सभी प्रश्नों का उत्तर सकारात्मक है, तो इसका अर्थ है कि आप तनाव से पीड़ित हैं। हमारा काम हमें नियमित खांचे में ही बांधकर रखता है। यही कारण है कि हम शरीर से अधिक मन से थका हुआ महसूस करते हैं। नियमित व्यायाम हमारे मन-मस्तिष्क को आराम प्रदान कर हमें तरोताजा बनाए रखने में मदद करता है।
सच यही है कि हममें से बहुत से लोग काम के दौरान व्यायाम करने के लाभ से परिचित नहीं हैं। अधिकतर हम सभी व्यायाम और अच्छे खान-पान को सुंदरता और स्वास्थ्य से जोड़कर देखते हैं, पर व्यायाम के लाभ इससे कहीं अधिक हैं। खासतौर पर यह उन लोगों के लिए अधिक फायदेमंद है, जो डेस्कजॉब पर अधिक रहने के कारण ज्यादा हिलते-डुलते नहीं हैं।
नियमित 9 से 5 की नौकरी कई बार सुस्ती पैदा करती है। दूसरी तरफ बढ़ता वर्क प्रेशर काम करने के घंटे बढ़ाए जाने की मांग करता है। पेशेवर मांग को पूरा करने के लिए युवा कैफीन, सिगरेट और एल्कोहल का सहारा ले रहे हैं, जो कुछ समय की राहत देकर हमारे शरीर को अधिक नुकसान पहुंचाता है। यह जरूरी है कि हम खुद को तनाव मुक्त रखने के तरीकों की खोज करें। जीवन को नियंत्रित करना इस दिशा में सबसे पहला कदम होना चाहिए। अपने शरीर और मन को तनावमुक्त करने के लिए वर्कआउट करना जरूरी होगा। तनावमुक्त होने के लिए पूरी गंभीरता से प्रयास करना हमारी हृदयगति को नियंत्रित करने और दिमाग को राहत पहुंचाने में फायदेमंद साबित होता है। नियमित रूप से व्यायाम करने से हमारा स्टैमिना मजबूत होता है तथा शरीर को ऊर्जा मिलती है। उदाहरण के लिए पैदल चलने पर रक्तप्रवाह नियमित होता है, शरीर के सभी हिस्सों में ऑक्सीजन का प्रवाह बना रहता है। यही कारण है कि जो लोग व्यायाम करते हैं वह तुलनात्मक रूप से अधिक जीवंत होते हैं। इससे मस्तिष्क को राहत तथा अच्छे फैसले लेने में मदद मिलती है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सकारात्मक ऊर्जा