DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुरीतियों पर चोट करती है ‘सलाण्या स्यली’


नयारघाटी व घंडियाल क्षेत्र में हिमालयन फिल्म्स के बैनर तले बन रही गीतमाला सलाण्या स्यली की वीडियो एलबम के दृश्य फिल्माए जा रहे हैं। शूटिंग देखने ग्रामीणों का हुजूम उमड़ पड़ा। वीडियो एलबम सल्याणा स्यली के गीतों की शूटिंग घंडियाल व बांघाट कस्बे में की गई। एलबम के गीतों को स्वरबद्ध कर रहे प्रख्यात लोक गायक नरेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि एलबम के गीतों के जरिए समाज में व्याप्त कुरीतियों, ढोंग और आडंबर के खिलाफ जागरूकता पैदा करने का प्रयास किया गया है।

आधुनिक दौर में भी भोले-भाले लोग पाखंडियों के चंगुल में फंसते जा रहे हैं। गीत ‘चल मेरा थौला’ के माध्यम से पांखडियों की हकीकत को दर्शाया गया है, वहीं एक अन्य गीत में दीक्षित आयोग द्वारा गैरसैण में पानी की कमी का हवाला देते हुए राजधानी बनाए जाने की संभावनाओं को खारिज किए जाने पर भी सवाल उठाया गया है।

ह्यस्य कन डय़ूटी के जरिए सीमा पर तैनात सैनिकों के परिवारों की पीड़ा को उजागर किया गया है। ह्यझगूली कठियाली गीत में पहाड़ी समाज में व्याप्त जातिवाद को दर्शाया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कुरीतियों पर चोट करती है ‘सलाण्या स्यली’