DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

होर्डिग विवाद की गूंज दिल्ली तक पहुंची

होर्डिग विवाद की गूंज दिल्ली तक पहुंच गयी है। अवैध होर्डिग के मसले पर दून के मेयर और सरकार के बीच जारी रस्साकसी पर भाजपा हाईकनाम ने गंभीर रुख अपना लिया है। कुंभ में हरिद्वार आए केन्द्रीय नेताओं ने मीडिया की सुर्खियां बने इस मुद्दे पर हैरानी जताई और सरकार व संगठन को तत्काल मामला निपटाने के निर्देश दिए हैं। 

दून के मेयर विनोद चमोली और शासन के बीच कुछ दिनों से जारी आरोप-प्रत्यारोप से पार्टी की बिगड़ रही छवि पर वरिष्ठ नेताओं ने चिंता जतायी है। हाईकमान की डांट के बाद प्रदेश अध्यक्ष बिशन सिंह चुफाल ने मेयर से वार्ता की और अवैध होर्डिग के खिलाफ अभियान जारी रखते हुए पार्टी की छवि बनाए रखने की नसीहत दी।

चुफाल व मेयर चमोली की एक दौर की वार्ता के फिलहाल सार्थक परिणाम नहीं निकले हैं। पार्टी के एक गुट ने सरकार के संदेशयुक्त होर्डिग हटाने पर वरिष्ठ नेताओं से शिकायत भी की है। जबकि दूसरे गुट ने होर्डिग की आड़ में वारा-न्यारा करने वाले पार्टी के ही कुछ लोगों की भूमिका पर उंगली उठायी है। होर्डिग से जुड़े समाचारों की कटिंग भी दिल्ली दरबार फैक्स की गयी है। होर्डिग के धंधे में कुछ पार्टी नेताओं के नाम आने से भी केन्द्रीय नेतृत्व के कान खड़े हुए है। इन नेताओं के नाम भी ऊपर तक पहुंचाए गए हैं। उधर, दूसरे गुट ने मेयर के कांग्रेस कार्यालय में जाने को भी मुद्दा बनाया हुआ है।

जबर्दस्त तनातनी के बावजूद मेयर अपने स्टैंड पर डटे हैं और सरकार के नुमाइंदे भी लगातार पलटवार की कोशिश में हैं। अभी तक मेयर निगम कर्मियों, कई संगठनों व अन्य दलों की सहानुभूति बटोरने में सफल रहे हैं। विपक्षी दल अपने अंदाज में भाजपा में जारी सियासत पर रोटी सेंक रहे है।

पार्टी नेतृत्व का मानना है कि इस लड़ाई में जीत किसी की भी हो लेकिन हार पार्टी की ही होगी। कुछ बड़े नेताओं के जंग में कूदने से भी पार्टी की कलह पर नए सिरे से पंख लगे हैं। फिलवक्त अपने-अपने आकाओं की शरण में गए दोनों गुट नए आदेश के इंतजार में है।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:होर्डिग विवाद की गूंज दिल्ली तक पहुंची