DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिक्शा चालक ने पैर ठीक न होने पर आत्महत्या की

वाराणसी के एक रिक्शा चालक ने अपने टूटे पैर का इलाज करा पाने में विफल होने पर बुधवार को ट्रेन के आगे कूद कर आत्महत्या कर ली।

स्थानीय पुलिस ने बताया कि कोनिया के रहने वाले केदार राजभर (45) को चार माह पहले पैर में फैक्चर हो गया था। जिन पैरों की मदद से वह दो जून की रोटी कमाता था। वह पैर काम करने के काबिल नहीं रहा।

स्वाभिमानी होने के कारण उसने अपने इलाज के लिए अपने भाईयों से भी मदद नहीं मांगी। जब पैर का दर्द ज्यादा बढ़ा तो बुधवार को वह चुपके से अपने घर से निकल गया और ट्रेन के आगे कूद कर आत्महत्या कर ली।

बुधवार की सुबह रेलवे लाइन पर उसकी क्षत विक्षत लाश देखकर लोगों ने इसकी सूचना उसके परिजनों और पुलिस को दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर अंत्यपरीक्षण के लिए भेज दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही हैं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रिक्शा चालक ने पैर ठीक न होने पर आत्महत्या की