DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रैली बनी नाक का मुद्दा

महंगाई विरोधी रैली को कामयाब बनाने के लिए भाजपा के आला नेता जी जान से जुट गए हैं। भाजपा नेताओं ने महंगाई को महाघोटाला बताते हुए इसकी जांच संसद की समिति की कराए जाने की मांग की। बताया जाता है कि रैली के बहाने नेताओं ने अब अपने को चमकाना भी  शुरु कर दिया है।


बुधवार को रैली स्थल रामलीला मैदान पर हो रही तैयारियां का भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अनंत कुमार व विजय गोयल, संगठन मंत्री रामलाल, विजेंद्र गुप्ता, रमेश विधूड़ी, सतीश उपाध्याय आदि ने जायजा लिया। भाजपा नेता अनंत कुमार ने कहा कि इस देशव्यापी रैली में सभी प्रांतों से लोग आएंगे जिनके ठहराने व स्वागत के लिए दिल्ली की आठ सीमाओं पर कार्यकर्ताओं को लगाया गया है। रैली में करीब एक लाख से ज्यादा लोगों के शिरकत करने की संभावना है।


 उन्होंने कहा कि महंगाई सीधे तौर पर एक महाघोटाला है और जनता के साथ विश्वासघात है जिसकी जांच संसद की समिति से कराई जानी चाहिए।  इस मामले में संसद में भी आवाज उठाई जाएगी तथा बहिष्कार किया जाएगा। महंगाई के खिलाफ देशव्यापी हस्ताक्षर अभियान भी चलाया जा रहा है जिसे 21 अप्रैल की रैली में राष्ट्रपति को सौंपा जाएगा। भाजपा नेताओं ने दावा किया कि महंगाई विरोधी इस रैली में करीब छह हजार बसें आएंगी और 20 ट्रेन बुक हो चुकी हैं। अभी 30 ट्रेन और बुक होने की संभावना है। रैली स्थल पर तैयारियों को अंजाम दिया जा रहा है। समझा जाता है कि भाजपा अध्यक्ष नितिन गड़करी की यह पहली बड़ी रैली होगी जिसे कामयाब बनाने के लिए हर नेता अपने को आगे लाना चाहता है। रैली में सुबह से ही लोग शिरकत करेंगे जिनकी सुविधा पर खास ध्यान दिया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रैली बनी नाक का मुद्दा