DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस ने अम्बेडकर की हमेशा उपेक्षा की : मायावती

मुख्यमंत्री मायावती ने अम्बेडकर जयंती के मौके पर कांग्रेस पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि जातिवादी मानसिकता के कारण कांग्रेस ने बाबा साहब अम्बेडकर समेत दलित महापुरुषों की घोर उपेक्षा की। यहाँ तक कि उन्हें भारत रत्न तक नहीं दिया।

उन्होंने कहा कि बाबा साहब को भारत रत्न मिलने के लिए 43 साल इंतजार करना पड़ा। एक गैर कांग्रेसी सरकार ने बसपा के दबाव में उन्हें भारत रत्न दिया। मायावती ने अम्बेडकर स्मारक से एलान किया कि विरोधी दलों की तमाम आलोचनाओं के बावजूद बसपा सरकार दलित महापुरुषों, गुरुओं और संतों के स्मारक और मूर्तियाँ स्थापित करने का काम जारी रखेगी। इन महापुरुषों और गुरुओं के सम्मान में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी।

डॉ़ अम्बेडकर की 119वीं जयंती पर मुख्यमंत्री ने यहाँ सामाजिक परिवर्तन स्थल में बाबा साहब की मूर्ति पर माल्यार्पण करने के बाद सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आजादी के 63 वर्ष बीत जाने के बाद भी केन्द्र और राज्यों की सत्ता में सबसे ज्यादा रही कांग्रेसी सरकारों ने दलित महापुरुषों को कभी सम्मान नहीं दिया जो निदंनीय और अशोभनीय है।

उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस-भाजपा ने दलित महापुरुषों को भी वही आदर-सम्मान दिया होता जो अपने समाज के लोगों को दिया था तो शायद हमें प्रदेश में बहुजन समाज के महापुरुषों के स्मारक, संग्रहालय बनवाने या मूर्तियाँ लगाने की जरूरत नहीं पड़ती।

मुख्यमंत्री ने कहा कि डॉ़ अम्बेडकर महिलाओं को जीवन के हर क्षेत्र में सशक्त बनाते हुए आगे बढ़ते देखना चाहते थे। इसी कारण उन्होंने केन्द्रीय कानून मंत्री की हैसियत से हिन्दू कोड बिल संसद में पास करवाना चाहा लेकिन कांग्रेस ने उनके साथ फिर दगा किया, जिससे बाबा साहब काफी दुखी हुए और उन्होंने कानून मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया।

महिला आरक्षण विधेयक का विरोध करते हुए बसपा मुखिया ने कहा कि डा़ॅ अम्बेडकर की ही तरह बसपा भी महिलाओं का उत्थान चाहती है। बसपा महिला आरक्षण विधेयक के खिलाफ नहीं है बल्कि पूरी तरह इसके पक्ष में है लेकिन राज्यसभा में पारित विधेयक से अनुसूचित जाति-जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, धार्मिक अल्पसंख्यक एवं सवर्ण समाज की गरीब महिलाओं का कोई सीधा लाभ होने वाला नहीं।

उन्होंने कहा कि इस विधेयक में इस वर्ग की महिलाओं के लिए अलग से आरक्षण की व्यवस्था नहीं की गई। इसके अलावा इसमें और खमियाँ भी हैं, जिसका पर्दाफाश करने के लिए बसपा अम्बेडकर जयंती पर देशव्यापी धरना-प्रदर्शन कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांग्रेस ने अम्बेडकर की हमेशा उपेक्षा की : मायावती