DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जालौन के जंगलों में होगी ‘यूएवी’ की परख

जल्द ही यूपी पुलिस के पास जंगलों में जमे नक्सलियों पर नजर रखने का अचूक हथियार होगा। नक्सलियों पर नजर रखने का काम कर रही यूपी एसटीएफ ने दंतेवाड़ा में हुए हादसे के बाद ‘यूएवी’ यानी ‘अनमैंड एरियल वीहिकल’ की खरीद-फरोख्त की प्रक्रिया तेज कर दी है।

एसटीएफ  और पुलिस के आला अधिकारी तीन दिन बाद यानी 17 अप्रैल को जालौन के जंगलों में जमा होकर इस ‘मानवरहित एरियल वाहन’ की कार्यक्षमता परखेंगे। दंतेवाड़ा में हुए हादसे के बाद प्रदेश पुलिस ड्रोन की तर्ज पर विदेशी कंपनियों द्वारा तैयार ‘यूएवी’ ारीदने के  लिए जोर-शोर से जुटी है। अगर यह खरीद वक्त पर पूरी हुई यूपी नक्सल प्रभावित प्रदेशों में ऐसा पहला राज्य होगा, जो यूएवी खरीदेगा। खरीद की प्रक्रिया हालांकि अंतिम चरण में है।

इस हल्के हवाई जहाजनुमा उपकरण में वीडियो कैमरे लगे होंगे, जो कंप्यूटर चिप के जरिये लैपटाप अथवा कंप्यूटर से जोड़ जा सकेंगे। यह हवा में करीब 50-100 मीटर तक उड़ान भरने की क्षमता रखते हैं। इन्हें घने जंगलों अथवा पहाड़ी के उस पार उड़ान भरवा कर मौजूद लोगों की हरकत का पता लगाया जा सकता है। उस पार के सजीव चित्र कंप्यूटर पर देखे जा सकेंगे। एसटीएफ जंगलों में रेकी करने के मकसद से इसे खरीद रही है। इसके शार्ट रेंज के माडल की लागत 20-25 लाख रुपये के बीच है।

कई विदेशी व देशी कंपनियां इसका प्रदर्शन कर चुकी हैं। अब इसके ऑन फील्ड प्रदर्शन के लिए जालौन (कालपी) के जंगल में 17 अप्रैल को इसका करतब परखा जाएगा। इसमें डीजीपी करमवीर सिंह, एसटीएफ के एडीजी और एसटीएफ के अधिकारियों के जाने की योजना है। इसकी खरीद के लिए गृह विभाग ने पहले ही अनुमति दे दी है। इसे पुलिस आधुनिकीकरण योजना के तहत खरीदा जाएगा। किस देशी या विदेशी कम्पनी से यूएवी खरीदे जाएँगे, इसका खुलासा करने से आला अफसर अभी कतरा रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जालौन के जंगलों में होगी ‘यूएवी’ की परख