DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मदरसा बोर्ड ऑफिस में छात्रों ने ताला जड़ा

बिहार मदरसा बोर्ड की आलिम (बीए) और फाजिल (एमए) की डिग्री उच्चतर माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा अमान्य करार देने पर छात्रों का गुस्सा आखिरकार फूट ही पड़ा। छात्रों ने मंगलवार से बोर्ड कार्यालय पर बेमियादी धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया और ऑफिस के मेन गेट पर ताला जड़ने के साथ ही जमकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी छात्रों ने बोर्ड के चेयरमैन मौलाना एजाज अहमद, परीक्षा नियंत्रक मो. मुस्तफा समेत अन्य पदाधिकारयों व कर्मचारियों को भी ऑफिस में नहीं घुसने दिया। इस कारण ऑफिस में कामकाज पूरी तरह ठप रहा। नतीजतन सुदूर गांवों से आए लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा।ड्ढr ड्ढr बोर्ड के चेयरमैन ने मदरसा छात्रसंघों से बातचीत करने का प्रयास किया, लेकिन प्रदर्शनकारी छात्र तैयार नहीं हुए। बाद में संघ के प्रतिनिधियों ने एक मेमोरंडम गवर्नर के उपसचिव और अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष नौशाद अहमद को सौंपा। छात्रसंघों ने ऐलान किया है कि पूर सूबे के मदरसा छात्र 26 फरवरी को विधानसभा का घेराव करंगे।मदरसा छात्रसंघ के नेता आफताब असलम, दानिश आबदीन, कौसर खान, अब्दुल कुद्दूस ने मांग की कि सरकार फौकानिया से लेकर फाजिल तक की डिग्री को कॉलेज व विश्वविद्यालय की डिग्री के समकक्ष मान्यता दे। यही नहीं, सरकारी नौकरियों में भी मदरसा के छात्रों के साथ भेदभाव न हो।ड्ढr ड्ढr उच्चतर माध्यमिक शिक्षक नियोजन में आलिम और फाजिल छात्रों को पहले की तरह बहाल किया जाए। पुस्तकालयाध्यक्ष पद पर भी इन छात्रों की नियुक्ित की जाए। उन्होंने यह भी मांग की कि मदरसा छात्रों के लिए शिक्षा विभाग फिर नियोजन की प्रक्रिया शुरू कर। उन्होंने चेतावनी दी कि सरकार यदि मांगों की अनदेखी करती है, तो मदरसा छात्र राज्यव्यापी आंदोलन करंगे। साथ ही बोर्ड का कामकाज भी अनिश्चितकाल तक ठप करा देंगे। प्रदर्शन के दौरान जिला प्रशासन और पुलिस अधिकारी भी मुस्तैद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मदरसा बोर्ड ऑफिस में छात्रों ने ताला जड़ा