DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गहमर में हथियारबंद नक्सलियों का धावा

कर्मनाशा नदी को पार कर बिहार से गहमर की सीमा में दाखिल हुए नक्सलियों ने रायसेनपुर गांव के अकबरपुर मौजा के सिवान में धावा बोला। दो लोगों को घायल कर जमकर लूटपाट की। मंगलवार की देर रात इस दुस्साहसिक वारदात को अंजाम देने के बाद नक्सली पुन: कर्मनाशा नदी पार कर बिहार की ओर भाग निकले। घटना की जानकारी बुधवार के तड़के गहमर पुलिस को हुई। पुलिस इसे मुसहर गैंग का कारनामा बता रही है, जबकि ग्रामीणों के मुताबिक इस इलाके का मुसहर गैंग नक्सली ही हैं।

गहमर गांव निवासी राजेन्द्र सिंह व रामदेव सिंह का टय़ूबवेल अकबरपुर मौजा के सिवान में स्थित है। मंगलवार की रात चने के बोझ की रखवाली के लिए दोनों अपने टय़ूबवेल पर सोये हुए थे। अर्धरात्रि के करीब डेढ़ दजर्न नक्सली कर्मनाशा नदी को पार कर सिवान में घुस गये। नक्सलियों ने गहरी नींद में सो रहे राजेन्द्र व रामदेव पर धारदार हथियारों से वार कर दिया।

उन्हें घायल करने के बाद नक्सलियों ने दोनों के हाथ-पैर बांधकर उन पर कम्बल डालकर लूटपाट शुरू कर दी। टय़ूबवेल का इंजन चालू कर नक्सलियों ने चने के बोझ की करीब चार घंटे तक मड़ाई की और उसे बोरे में भरकर समेट लिया। इसके बाद बदमाशों ने पास ही मौजूद त्रिवेणी सिंह के टय़ूबवेल पर धावा बोलकर तोड़फोड़ करने के साथ ही मशीन का पैनल खोल लिया। लूटपाट का दौर यहीं नहीं थमा। टय़ूबवेल के कमरे में मौजूद अन्य किसानों के अनाज, तिलहन सहित दो साइकिल भी नक्सली ले गए। नक्सलियों ने टय़ूबवेल पर गैलन में रखे 15 लीटर डीजल भी निकाल लिया। इसके बाद नक्सली पुन: कर्मनाशा नदी पार कर बिहार के सरहद में घुस गये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गहमर में हथियारबंद नक्सलियों का धावा