DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खाद्यान्न घोटालाः सात सीडीओ व पांच पीडी आरोपित

खाद्यान्न घोटाले की जांच की रही सीबीआई ने सोहांव ब्लाक में हुए घोटाले में कुल 105 अधिकारी, कर्मचारी, जनप्रतिनिधि, कोटेदार, भट्ठा मालिकों आदि पर मुकदमा दर्ज किया है। आरोपितों में सात सीडीओ, पांच पीडी, तीन डीपीआरओ, एक डीडीओ, एक डीएसओ, चार बीडीओ, एक ब्लाक प्रमुख, ब्लाक के जेई, एफसीआई के डिपो इंचाजर्, दो डिप्टी आरएमओ, चार एसएमआई, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, सदर पूर्ति कार्यालय के दो लिपिक, ब्लाक के लेखा व एनआरआईपी लिपिक, 16 कार्य प्रभारी/ सहायक विकास अधिकारी/ ग्राम विकास अधिकारी, 17 कोटेदार, सात ईंट भट्ठा मालिकों व एक सप्लाई इंसपेक्टर शामिल हैं। आरोपितों पर सीबीआई ने आईपीसी की धारा 120 बी, 34, 409, 419, 420, 467, 468, 471, 201,218 के अलावा पीसी एक्ट की धारा 13 (2) आर/डब्लू 13 (1) (डी) के तहत मुकदमा दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है।

वर्ष 02-05 के दौरान एसजीआरवाई के तहत जिले में हुए करोड़ों के घोटाले की जांच सीबीआई द्वारा जारी है। सीबीआई के अधिकारियों ने सोहांव ब्लाक में हुए घोटाले के मामले में पिछले माह में 105 लोगों को आरोपित करते हुए लखनऊ स्थित अदालत में मुकदमा दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है। आरोपितों में सात सीडीओ जेबी सिंह, हरिओम, राममूर्ति, हीरामणि मिश्र, अश्वनी कुमार श्रीवास्तव, दीनानाथ पटवा, केदार प्रसाद गुप्त के अलावा पांच पीडी आरबी सिंह, रवि कुमार, एलएन चौधरी, अजरुन राम, राम आश्रय सिंह शामिल हैं।

मुकदमा में तीन डीपीआरओ एपी त्रिपाठी, लियाकत अली, नंद कुमार के साथ ही डीएसओ निर्मलेंदु कुमार, डीडीओ रामकिशुन राम, चार बीडीओ बीके श्रीवास्तव, विजय कुमार चौधरी, संत लाल, राम फेर राम, आरके लाल, ब्लाक के जेई मो. रोजिद के साथ ही वर्ष 02-05 के दौरान रहे ब्लाक प्रमुख, दो डिप्टी आरएमओ आरके गुप्त व बीपी सिन्हा, चार एसएमआई, एक पूर्ति निरीक्षक, सदर पूर्ति कार्यालय के दो लिपिक के अलावा आरईएस के दो एक्सईएन, तीन सहायक अभियंताओं का भी नाम सीबीआई ने शामिल किया है। डीआरडीए के जेई, अर्थशास्त्री के अलावा 10 अन्य कर्मचारियों के भी नाम मुकदमा में हैं, जिसमें लिपिक, लेखाकार, सहायक लिपिक, सहायक लेखाकार, अन्वेषक, ड्राफ्टमैन, प्रधान लिपिक आदि शामिल हैं। आरोपितों में तहसीलदार केके सिंह, नायब तहसीलदार रमेश कुमार शामिल हैं।

सोहांव ब्लाक में जांच के दौरान मिली खामियों के आधार पर सीबीआई ने ब्लाक के 16 कार्य प्रभारी/ सहायक विकास अधिकारी/ ग्राम विकास अधिकारी, विभिन्न गांवों के 17 कोटेदार, सप्लाई करने वाले सात ईंट भट्टा मालिकों, ब्लाक के लेखा व एनआरआईपी लिपिक  को आरोपित करते हुए विवेचना शुरू कर दी है। सूत्रों की मानें तो सीबीआई सोहांव ब्लाक को आवंटित 39 लाख 26 हजार 890 रुपये के खाद्यान्न व योजना के तहत मजदूरों को वितरित 60 लाख 14 हजार 770 रुपये के आहरण करने की जांच कर रही है। सूत्रों के अनुसार सीबीआई को सोहांव ब्लाक में एक दजर्न से अधिक ऐसे कार्य मिले हैं जहां कार्य नहीं कराया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खाद्यान्न घोटालाः सात सीडीओ व पांच पीडी आरोपित