DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कॉलेज आफ कामर्स: बेहतर फैकल्टी के साथ अच्छी सुविधा

मगध विश्वविद्यालय के बेहतरीन कॉलेजों में एक नाम कॉलेज ऑफ कॉमर्स का भी आता है। कॉलेज ऑफ कॉमर्स में दाखिला पाने के लिए स्टूडेंट्स का हुजूम यहां उमड़ता है। कॉलेज में कला, विज्ञान और वाणिज्य तीनों विषयों की पढ़ाई होती है। यहां 2320 सीटों पर नामांकन के लिए मारामारी होती है। इतना ही नहीं सीट ज्यादा होने की वजह से स्टूडेंट्स की भीड़ रहती है। कला में 960, विज्ञान में 720 और कॉमर्स में 640 सीटें हैं।

इसके अलावा बीबीए, बीसीए, फंक्शनल इंग्लिश, बायो टेक्नोलॉजी, ऑफिस मैनेजमेंट, पत्रकारिता, एमबीए और लाइब्रेरी साइंस सहित कई व्यावसायिक पाठय़क्रमों की पढ़ाई होती है। कॉलेज में बीबीए और बीसीए, बायो टेक्नोलॉजी, फंक्शनल इंग्लिश का पाठय़क्रम काफी लोकप्रिय है। बेहतरीन शिक्षा व्यवस्था के कारण यहां की छात्राओं का चयन कई नामी कंपनियों में हुआ है। इसको लेकर स्टूडेंट्स का रुझान इस तरफ काफी बढ़ा है। आर्ट्स और ट्रेडिशनल कोर्स में बेहतर व्यवस्था उपलब्ध है।

यूजीसी सेल : कॉलेज ऑफ कॉमर्स में यूजीसी सेल के अन्तर्गत कई सेल बनाए गए हैं। स्टूडेंट्स की सुविधा के लिए कॅरियर काउंसिलिंग सेंटर खुला हुआ है। इसके माध्यम से स्टूडेंट्स को कॅरियर संबंधी कई महत्वपूर्ण जानकारियां दी जाती हैं। इसके अलावा प्लेसमेंट सेल भी बना हुआ है। छात्रों के चयन के लिए यह सेल बाहरी कंपनियों को बुलाती है। कॉलेज में कल्चरल सेल भी है। कॉलेज में होने वाले हर सांस्कृतिक कार्यक्रम में इनकी टीम भाग लेती है।

डॉ. सुभाष प्रसाद सिन्हा, पूर्व प्राचार्य, कॉलेज ऑफ कॉमर्स कहते हैं कि नए सत्र में कॉलेज की कमियों को दूर किया जाएगा। नैक द्वारा मिले बी प्लस ग्रेड को ए ग्रेड में बदलने काप्रयास किया जाएगा। फिल्ड और हॉस्टल की कमी को दूर किया जाएगा। एकेडमिक माहौल को बनाने में सभी शिक्षक अपनी भूमिका निभा रहा हैं। पिछले सत्र में एमबीए और लाइब्रेरी साइंस कोर्स शुरू किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कॉलेज आफ कामर्स: बेहतर फैकल्टी के साथ अच्छी सुविधा