DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रतिबंध के बावजूद पाक में खूब छलकते हैं जाम

प्रतिबंध के बावजूद पाक में खूब छलकते हैं जाम

इस्लामिक देश पाकिस्तान में शराब की बिक्री पर प्रतिबंध के बावजूद यह धड़ल्ले से जारी है। शराब विक्रेता पॉश इलाकों में स्थित अपने घरों से अपनी गतिविधियां संचालित करते हैं और उनके पड़ोसी भी इन गतिविधियों पर कभी आपत्ति नहीं जताते।

सप्ताहांतों में शराब की बिक्री उफान पर होती है। इस दौरान कई महिलाओं को कार चला कर आते और शराब खरीद कर ले जाते देखा जा सकता है। देश के ज्यादातर शराब विक्रेता बहुसंख्यक मुस्लिम समुदाय से हैं। एक टैक्सी चालक ने बताया कि सारे कलमा पढ़ने वाले मुसलमान हैं।

पाकिस्तान को 1977 में आधिकारिक तौर पर शराबरहित घोषित किया गया था। इस नियम के तहत देश की 97 फीसदी आबादी शराब नहीं पी सकती। देश का एकमात्र शराबखाना मुरी शराबखाना शेष तीन फीसदी आबादी, जिसमें हिंदू, इसाई और फारसी शामिल हैं, को शराब परोसता है।

मुरी शराबखाना के मालिकों के परिवार के एक सदस्य मिनू भंडारा ने एक बार कहा था कि मेरा मानना है कि हमारे 99 फीसदी ग्राहक मुसलमान हैं। निश्चित तौर पर खुले रूप में नहीं। देश में कई मुस्लिम शादियों में भी शराब परोसी जाती है, जो भारत में नहीं होता।

प्रख्यात स्तभंकार नदीम एफ पाराचा ने कहा देश की उत्तरी सीमा से चीन से ट्रकों में वोदका लाई जाती है, जबकि दक्षिणी सीमा से यूरोप से बीयर और स्कॉच व्हिस्की लाई जाती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रतिबंध के बावजूद पाक में खूब छलकते हैं जाम