DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कमजोर छात्रों के लिए रेमेडियल क्लास

पढ़ाई में कमजोर छात्र-छात्राओं के लिए नेशनल कॉलेज रेमेडियल क्लास चलाएगा। यह कक्षाएँ नए सत्र से शुरू हो जाएँगी। इसमें कॉलेज के ही बीए, बीएससी और बीकॉम के छात्र पढ़ सकेंगे। जो छात्र आर्थिक रूप से कमजोर हैं और पैसा खर्च करके ट्यूशन नहीं कर सकते, उनके लिए तो यह कक्षाएँ रामबाण साबित होंगी।

कई बार होता यह है कि सामान्य कक्षाओं में समय सीमित होने के कारण छात्र पढ़ाए गए पाठों को पूरी नहीं समझ पाते हैं। इसके लिए कुछ छात्र ट्यूशन भी करते हैं। उन्हें ट्यूशन की जरूरत नहीं होगी और कॉलेज की ही अच्छी फैकल्टी से ऐसे पाठों को फिर से पढ़ सकेंगे जो समझ में नहीं आए। यह कक्षाएँ हफ्ते में दो या तीन दिन लगेंगी। कॉलेज के प्राचार्य डॉ. एस. पी. सिंह बताते हैं कि स्नातक कक्षाओं में कई विषय होते हैं। फिर भी हर विषय में रेमेडियल कक्षाएँ चलाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसके लिए छात्रों से ही फीड बैक लिया जा रहा है कि किन-किन विषयों में वे रेमेडियल कक्षाओं की जरूरत महसूस करते हैं। जो छात्र थोड़ा भी पीछे हैं उन्हें रेमेडियल क्लास के जरिए और आगे ले जाने की कोशिश की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कमजोर छात्रों के लिए रेमेडियल क्लास