DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनडीए परीक्षा से यूपी बोर्ड का मूल्यांकन प्रभावित

यूपी बोर्ड का 18 अप्रैल से होने वाला मूल्यांकन दो दिनों के लिए प्रभावित हो गया है, क्योंकि इसी दिन नेशनल डिफेंस एकेडमी (एनडीए) की परीक्षाएँ है। इससे मूल्यांकन वाले प्रदेश के 222 सेण्टरों में से 168 सेण्टर प्रभावित हो गए है। इसी प्रकार से 19 अप्रैल को शिक्षक-शिक्षिकाओं का जनगणना प्रशिक्षण है। इसमें मूल्यांकन वाले 18 जिलों के शिक्षक-शिक्षिकाएँ प्रशिक्षित किए जाएगें। इस प्रकार मूल्यांकन में विलम्ब होने पर हाईस्कूल और इण्टर का रिजल्ट मई के अन्तिम हफ्ते में घोषित किए जाने की संभावना है।

यूपी बोर्ड का मूल्यांकन प्रदेश के 222 सेण्टरों पर 18 अप्रैल से शुरू होने जा रहा है। इसके लिए एक लाख 30 हजार परीक्षक लगाएँ गए है। यूपी बोर्ड के चारों क्षेत्रीय कार्यालय कार्यालय-इलाहाबाद, वाराणसी, मेरठ और बरेली के अपर सचिव मूल्यांकन की तैयारियों में तेजी से लग गए है। लेकिन उनको मूल्यांकन शुरू होने वाले ही दिन एनडीए परीक्षा और शिक्षकों के जनगणना प्रशिक्षण की जानकारी नहीं थी।

एनडीए परीक्षा होने से वाराणसी मे आठ, मुरादाबाद-लखनऊ-गोरखपुर-फैजाबाद-फिरोजाबाद-बहराइच के सात-सात, इलाहाबाद के छह, कानपुर नगर-मेरठ-बरेली-झांसी-कन्नौज-आगरा-चित्रकूट-उन्नाव जिलों के पाँच-पाँच सेण्टरों पर एनडीए की परीक्षा होगी। जबकि अन्य जिले के तीन से चार सेण्टरों पर एनडीए की परीक्षाएँ हो रही है।

उधर, इलाहाबाद, लखनऊ, वाराणसी, मुजफ्फनगर, गोखरपुर, भदोही, जौनपुर, हाथरस, चन्दौली, इटावा सहित 18 जिलों में 19 अप्रैल को सुबह 10 बजे शिक्षक-शिक्षिकाओं को जनगणना-2011 का प्रशिक्षण दिया जाएगा। संबंधित जिलों के जिलाधिकारी ने डीआईओएस को शिक्षक-शिक्षिकाओं को समय से कार्य मुक्त कर प्रशिक्षण में आने का निर्देश दिया है। इससे मूल्यांकन प्रभावित होगा।

इस मामले में जब इलाहाबाद क्षेत्रीय कार्यालय के अपर सचिव डॉ.प्रदीप कुमार से संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि मूल्यांकन तिथि का निर्धारण करते समय एनडीए परीक्षा की जानकारी नहीं थी। जिन सेण्टरों पर एनडीए की परीक्षा होगी वहाँ पर मूल्यांकन दूसरे दिन से शुरू होगा।

परीक्षकों के आईकार्ड डाक से भेजे गए
यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इण्टर की कापियों का मूल्यांकन करने वाले एक लाख 30 हजार परीक्षकों के आईकार्ड (परिचय-पत्र) सभी क्षेत्रीय कार्यालयों ने डाक से भेज दिए है। बोर्ड ने यह व्यवस्था पहली बार की है। जबकि इसके पूर्व परीक्षकों के आईकार्ड डीआईओएस कार्यालय के माध्यम से भेजे जाते थे। इलाहाबाद क्षेत्रीय कार्यालय के अपर सचिव डॉ.प्रदीप कुमार ने बताया कि सभी परीक्षकों के आईकार्ड डाक से भेज दिए गए है। इनमें से अधिकांश को मिल भी चुके है। इसकी पुष्टि भी की जा रही है कि किस जिले के विद्यालय के परीक्षकों को अभी तक आईकार्ड नहीं मिले है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एनडीए परीक्षा से यूपी बोर्ड का मूल्यांकन प्रभावित