DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऐसे होगी यूपीटीयू व एआईईईई की किलेबंदी

आईआईटी प्रवेश परीक्षा की जंग के बाद इंजीनियरिंग की तैयारी कर रहे छात्रों को यूपीटीयू और एआईईईई का किला फतह करने की चुनौती है। यूपीटीयू की प्रवेश परीक्षा 17-18 अप्रैल और एआईईईई की परीक्षा 23 अप्रैल को है।

इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा के लिए छात्रों का मार्गदर्शन करने वाले भौतिकी विशेषज्ञ इंजीनियर आरएम सिंह का कहना है कि अंतिम चरण में प्रतियोगियों को अलग से ज्यादा तैयारी करने की आवश्यकता नहीं है। पहले की तैयारी को ठीक से दोहरा लें। इसके बाद असली चुनौती टाइम मैनेजमेंट की है क्योंकि ज्यादा प्रश्न समयाभाव के कारण रैंक पर असर डालते हैं।

भौतिकी विशेषज्ञ का कहना है कि यूपीटीयू (एसईई) की परीक्षा में पहली पाली में भौतिकी एवं रसायन विज्ञान में प्रत्येक से 75 प्रश्न पूछे जाते हैं। इसके लिए ढाई घण्टे का समय है। दूसरी पाली में गणित के भी 75 प्रश्न होते हैं। इन दोनों प्रश्न पत्रों को हल करते समय छात्रों को समय का ध्यान देना आवश्यक है। दोनों प्रश्नपत्रों को मिलाकर कुल 900 अंक होते हैं। इसलिए भौतिकी एवं रसायन पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है। सभी प्रश्न चार-चार अंक के होते हैं।

भौतिकी विशेषज्ञ ने बताए सफलता के सूत्र
- मैकेनिक्स एवं माडर्न फिजिक्स से जुड़े प्रश्न छात्र बार-बार गलत करते हैं। इन्हे अच्छी तरह से देख लेना चाहिए।
- इलेक्ट्रो मैगनेटिज्म, अल्टरनेटिंग करेण्ट, रे-आप्टिक्स से ज्यादा प्रश्न पूछे जाते हैं।
- लाइट से जुड़े चित्रों को अच्छी तरह से दिमाग में बैठा लें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ऐसे होगी यूपीटीयू व एआईईईई की किलेबंदी