DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसटीएफ प्रमुख के खिलाफ वारंट और नोटिस जारी

श्रमजीवी विस्फोट कांड में पूर्व एटीएस प्रमुख एवं वर्तमान में एसटीएफ प्रमुख राजीव कुमार के कोर्ट में गैर हाजिर रहने पर एएसजे ईसी एक्ट की अदालत ने मंगलवार को उनके खिलाफ वारंट तथा नोटिस जारी किया है। साथ ही कहा है कि क्यों न उनके खिलाफ कोर्ट के आदेश की अवहेलना में कानूनी कार्रवाई की जाए। मामले में अगली सुनवाई 27 अप्रैल को है।

गत 28 जुलाई 05 को श्रमजीवी ट्रेन में विस्फोट कराने का आरोपित ओबैदुर्रहमान ईसी एक्ट की कोर्ट में पेश किया गया शेष दोनों आरोपित हिलाल व नफीकुल विश्वास उपस्थित नहीं थे। पिछली कई तारीखों से पूर्व एटीएस प्रमुख राजीव कुमार को बतौर डिफेंस विटनेस कोर्ट में तलब करने के लिए सम्मन जारी किया जा रहा था लेकिन वे उपस्थित नहीं हुए तथा उनके अधिवक्ता ने कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया कि समाचार पत्रों में छपी खबर के आधार पर किसी को बतौर डिफेंस विटनेस तलब नहीं किया जा सकता। इस आशय की रिट उन्होंने हाईकोर्ट में दाखिल किया है।

उधर आरोपितों के वकील प्रदीप श्रीवास्तव ने एटीएस प्रमुख को तलब करने के लिए वारंट जारी करने की दरख्वास्त दिया। जिस पर संज्ञान लेते हुए कोर्ट ने राजीव कुमार के खिलाफ जमानती वारंट व धारा 350 दं.प्र.सं. के तहत नोटिस जारी किया कि व्यक्तिगत रूप से 27 अप्रैल से कोर्ट में उपस्थित होकर कारण दर्शित करें कि क्यों न कोर्ट के आदेश की अवहेलना में उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए। लगभग पांच वर्ष बीतने को है लेकिन कोर्ट की कार्रवाई में हो रहे विलंब के कारण पीड़ितों को शीघ्र न्याय नहीं मिल पा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एसटीएफ प्रमुख के खिलाफ वारंट और नोटिस जारी