DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंजे व हाथी के वंदनवार से सजा अम्बेडकरनगर

अम्बेडकरनगर कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी के रण में तब्दील हो गया है। शहर से लेकर गाँव तक सड़कें-गलियाँ पंजे व हाथी के वंदनवार से सज गई हैं। आसमान से बरसती आग के बीच सियासी पारा और चढ़ गया है। डॉ.भीमराव अम्बेडकर की जयंती का उत्सव सियासत के तनाव से लबरेज है।

कांग्रेस व बसपा दोनों ने अम्बेडकर जयंती पर 14 अप्रैल को राजनीति का उत्सव मनाने की तैयारी को अन्तिम रूप दे दिया है। कांग्रेस अपने पुराने वोट बैंक दलितों के बीच एक बार फिर से पैठ बनाने का सपना संजोए है। वहीं बसपा अपने आधार मतों को खिसकने से रोकने की हर संभव कोशिश में लगी है। जयंती से एक दिन पहले यहाँ का नजारा रोचक होने के साथ रोमांचक भी है।

अम्बेडकरनगर हवाई पट्टी के उत्तरी छोर पर कांग्रेस ने पाँच लाख वर्ग फुट के क्षेत्रफल में सभा स्थल बना लिया है। 20 हजार कार्यकर्ताओं के कुर्सी पर बैठने की व्यवस्था  है। शेष जगह जमीन पर बैठने वाले कांग्रेसजनों के लिए है। राहुल गांधी का मंच तैयार हो गया है। इसी के समीप कांग्रेसी दिग्गजों के लिए दूसरा मंच बना है। राहुल का विमान हवाई पट्टी पर उतरेगा। वह सीधे सभा स्थल पर पीछे से मंच तक पहुँचेंगे। इसके लिए हवाई पट्टी की चहारदीवारी के एक छोटे हिस्से को तोड़कर रास्ता बनाया गया है।

राहुल सभा को सम्बोधित करने के बाद कांग्रेस की स्थापना के125 वर्ष पूरे होने पर 10 कांग्रेस यात्रा रथों को भी रवाना करेंगे। यह रथ मंगलवार शाम अम्बेडकरनगर पहुँच गए। राहुल के मंच के दाहिनी ओर पाँच कटआउट लगे हैं। इन पर महात्मा गांधी, डॉ. भीमराव अम्बेडकर, सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह व खुद राहुल की तस्वीरें लगी हैं। अम्बेडकरनगर के सभी होटल व गेस्ट हाउस फुल हो चुके हैं। प्रदेश भर के कांग्रेसी दिग्गज पहुँच रहे हैं। कई केन्द्रीय नेता भी पहुँचे हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंजे व हाथी के वंदनवार से सजा अम्बेडकरनगर