DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्मारक सुरक्षा बल को मिलेगा पीएसी के बराबर वेतन

स्मारकों व मूर्तियों की सुरक्षा के लिए रिटायर फौजियों को लेकर बनने वाले विशेष क्षेत्र स्मारक सुरक्षा बल का गठन दो कमेटियों के जरिए होगा। इसके लिए एक कमेटी मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित की गई है, जबकि दूसरी कमेटी डीजीपी की अध्यक्षता में। सुरक्षा बल में आठ कंपनियां होंगी। वर्दी दूसरे सुरक्षा बलों से अलग होगी और सुरझा बल के जवानों का वेतन पीएसी सिपाहियों के बराबर होगा। उन्हें संविदा पर रखा जाएगा।

शासन के सूत्रों के मुताबिक पहले यह योजना थी कि अम्बेडकर जयंती तक बल का गठन कर लिया जाए,लेकिन यह अस्तित्व में नहीं आ सका। दो कमेटियां गठित की गई हँ। इस कमेटी मुख्य सचिव की अध्यक्षता में होगी। इसमें प्रमुख सचिव कार्मिक (कुंवर फतेह बहादुर) सदस्य होंगे। यह कमेटी बल के कमांडेंट यानी सेवानिवृत्त कर्नल का चयन करेगी। इसी कमेटी के जिम्मे डिप्टी कमांडेंट का काम भी होगा। डिप्टी कमांडेंट लेफ्टिनेंट कर्नल होंगे।

इसके अलावा सेवानिवृत्त मेजर भी रखे जाएंगे। उन्हें क्वार्टर मास्टर नाम दिया जाएगा। साथ ही आठ कंपनी कमांडर के पद के लिए सेवानिवृत्त कैप्टन रखे जाएंगे। इस संबंध में शासन ने नई दिल्ली स्थित डायरेक्टर जनरल रीसेटेलमेंट से संपर्क किया है। उनसे हाल ही में सेवानिवृत्त हुए जवानों और अफसरों की सूची मांगी गई है।

दूसरी ओर डीजीपी करमवीर सिंह की अध्यक्षता में कमेटी बनी है। इसमें एडीजी पीएसी को भी मेंबर बनाया गया है। इस कमेटी में एक आईजी या डीआईजी होगा। यह कमेटी नौ सौ जवानों का चयन करेगी। वर्दी अलग रंग की होगी और जवानों को संविदा के रूप में चुना जाएगा। उन्हें पीएसी सिपाही के बराबर तनख्वाह दिए जाने की व्यवस्था की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्मारक सुरक्षा बल को मिलेगा पीएसी के बराबर वेतन