DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बारदाना व्यापारी की माँ, पत्नी और बेटी का कत्ल

किदवईनगर में मंगलवार को दिनदहाड़े घर में घुस कर बारदाना व्यापारी की माँ, पत्नी और बेटी की हत्या कर दी गई। तीनों के शव घर में अलग-अलग पड़े मिले। दुस्साहसी हत्यारों ने वारदात को अंजाम देने के बांका, सरिया और धारदार हथियार का इस्तेमाल किया। हत्या के समय व्यापारी की पत्नी और बेटी ने संघर्ष भी किया। उनके शव काफी दूर तक खींचे भी गए। घटना से इलाके में सनसनी है। आईजी, डीआईजी समेत कई आला अफसरों ने मौके पर जाकर मुआयना किया। डाग स्क्वाएड और फील्ड यूनिट ने भी घर का चप्पा-चप्पा छाना। कई स्थानों से फिंगर प्रिंट लिए गए।

दिल दहला देने वाली यह वारदात किदवईनगर के एच ब्लाक में संजय वन गेट के सामने स्थित नयागंज के बारदाना व्यापारी शांतिशरण अग्रवाल के घर में हुई। शांतिशरण की नौकरानी रानी दोपहर लगभग 2 बजे चौका-बर्तन करने आई। रानी रोज पीछे से चैनल खुला कर घर के अंदर जाती थी। रानी ने चैनल खुलाने के लिए आवाज दी। लेकिन कोई नहीं आया। उसने गौर से अंदर देखा तो आँगन में खून पड़ा था।

खून देखकर रानी घबरा हो गई। रानी ने किदवईनगर में ही स्थिति चंद्रिका अपार्टमेंट निवासी शांतिशरण के भाई राजीव और अशोक को आँगन में खून दिखने की सूचना दी। राजीव और अशोक के घर से शांतिशरण की बेटी रंजना को फोन किया गया। रंजना भी पास ही में रहती है। रंजना तुरंत दौड़कर मौके पर पहुँची। रंजना ने घर का मुख्य दरवाजा खोला तो सामने बिस्तर में उसकी माँ इमरती (80) का लहूलुहान शव पड़ा था।

यह देखकर रंजना घबरा गई। रंजना हिम्मत कर अंदर गई तो किचेन के बाहर भाभी पुष्पा (50) और भतीजी रुचि (24) का शव पड़ा था। माँ, भाभी और भतीजी के खून से सने शव देखकर बदहवास हुई रंजना ने सभी चाचा और परिवार के लोगों को वारदात की जानकारी दी। कुछ ही देर में तिहरे हत्याकांड की खबर इलाके में फैल गई।

पुलिस भी ट्रिपल मर्डर सुनकर सन्न रह गई। किदवईनगर थाना पुलिस के पहुँचते ही एसपी पूर्वी कुशहर सौरभ, सीओ और आसपास के थानों का फोर्स पहुँच गया। कुछ ही देर में आईजी जीएल मीना, डीआईजी प्रेम प्रकाश, फील्ड यूनिट और डॉग स्क्वाएड दस्ते ने भी पहुँच कर छानबीन शुरू की। घटनास्थल को देखकर अनुमान लगाया जा रहा है कि योजना बनाकर वारदात को अंजाम दिया गया।

हत्यारे ने गेट खुलवाया। गेट पर ही व्यापारी की माँ को मार दिया गया। अंदर से व्यापारी की पत्नी शोर सुनकर आई तो उन्हें दौड़ा कर किचेन के पास मारा गया। उसके बाद रुचि की हत्या कर शव खींच कर कमरे में डाल दिया गया। आईजी, डीआईजी ने शांतिशरण से पूछताछ की, पर हत्या की वजह साफ नहीं हो पाई। परिवारीजनों ने किसी से रंजिश से इंकार किया।

व्यापारी की बेटी रुचि एमबीए करके अब सीएस कर रही थी। शांतिशरण छह भाई हैं। उनके साथ ही तीन भाइयों का भी बारदाना का कारोबार था। जबकि दो भाई दवा के कारोबारी हैं। दो बेटे सौरभ और अनीस है। सौरभ यूएसए में और अनीस हैदराबाद में इंजीनियर है। पुलिस रिश्तों के इर्द-गिर्द भी कई बिंदुओं पर छानबीन कर रही है।

‘‘तिहरे हत्याकाण्ड में किसी करीबी का हाथ हो सकता है। पुलिस कई बिंदुओं पर छानबीन की जा रही है। ’’
जीएल मीना, आईजी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बारदाना व्यापारी की माँ, पत्नी और बेटी का कत्ल