DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंदिरा आवास में धांधली का आरोप

इंदिरा आवास योजना में अपात्रों को लाभ पहुंचाने के आरोप लगने लगे हैं। मामले में ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंप जांच की मांग की है। जिले में 2009-10 में 6807 इंदिरा आवास बनाये जाने थे। इसमें से 5110 मकानों का कार्य पूरा हो गया है, जबकि 1697 आवास अभी भी बनने हैं। पूर्व में अनुसूचित जाति, जनजाति के लाभार्थी न मिलने पर डीआरडीए ने सामान्य श्रेणी के बीपीएल परिवारों को भी योजना में शामिल करने का प्रस्ताव भेजा। इस पर आवास आवंटन में तेजी आ गयी।

इधर मंगलवार को दोपहरिया के ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंप गांव में पहले से पक्के मकान वाले तीन अपात्रों को आवास देने का आरोप लगाया है। इस मामले में 23 मार्च को ग्रामीणों ने खंड विकास अधिकारी से भी शिकायत की थी। वहां से कोई सुनवाई न होने पर ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से शिकायत की है। उनका कहना है कि गांव में कई पात्र लोग हैं लेकिन उन्हें आवास उपलब्ध नहीं कराए जा रहे हैं।

इधर डीआरडीए के परियोजना अर्थशास्त्री वाइके मलकानी का कहना है कि अगर अपात्रों को आवास दिये गये हैं तो इसकी जांच कर संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। ज्ञापन में उप प्रधान निर्मला देवी, जगदीश चंद्र, ओमप्रकाश, होरीलाल, सुमित कुमार, चूणामणि, मोहन लाल, कन्हैयालाल, दीपक कुमार आदि शामिल हैं। 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंदिरा आवास में धांधली का आरोप