DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बल्क डाक सेवा बंद होने से ग्राहक परेशान

गाजियाबाद मुख्य डाक घर से कभी हजारों की संख्या में चिट्ठियां भेजने वाले ग्राहक अब परेशान घूम रहे हैं। क्योंकि अब उनके लिए डाक भेजना टेढ़ी खीर हो गई है। मार्च तक उन्हें अपनी चिट्ठीयां पता लिखकर डाकघर में छोड़नी होती थीं और उनपर टिकट लगाना और बाकि काम करना विभाग का काम होता था। मगर अब ऐसा नहीं हो रहा है।


ज्यादा संख्या में भेजी जाने वाली चिट्ठियों पर सामान्य टिकट नहीं लगता बल्कि उनपर मशीन से टिकट छपता है। पर मार्च 31 के बाद से यह सुविधा गाजियाबाद मुख्य डाकघर में बंद कर दी गई है और मशीन को सिटी डाकघर यानि बजरिया स्थित नोडल स्पीड पोस्ट सेंटर भेज दिया गया है। मगर मशीन के ट्रांसफर का यह काम सिर्फ कागजों में हुआ है। जिस कारण मशीन अभी भी मुख्य डाकघर में ही रखी हुई है। पर उस मशीन से कोई काम नहीं हो रहा है। मुख्य डाकघर से कई बार कहने के बावजूद सिटी पोस्ट ऑफिस मशीन ले जाने को तैयार नहीं है।
दोनों डाकघरों के इस खींचतान के बीच ग्राहक परेशान हो रहे हैं। मशीन से टिकट लग कर डाकघर से रोज करीब 20 हजार चिट्ठियां जाती थीं। मगर अब ग्राहकों को चिट्ठीयां भेजने में खासी परेशानी हो रही है। वे अपना काम करवाने के लिए भटक रहे हैं। अब उन्हें चिट्ठी भेजने के लिए मैन्यूअली टिकट लगानी पड़ रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बल्क डाक सेवा बंद होने से ग्राहक परेशान