DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फैशन डिजाइनरः हर ताल पर करते कमाल

फैशन डिजाइनरः हर ताल पर करते कमाल

आजकल फैशन इंडस्ट्री में एक नया ट्रैंड चल पड़ा है। इसके तहत तमाम फैशन डिजाइनर्स और फैशन उद्योग से जुड़े लोग फैशन डिजाइनिंग से परे हट कर भी काफी कुछ कर रहे हैं। होम फर्निशिंग से लेकर फर्नीचर लाइन और आइसक्रीम पार्लर से लेकर रेस्तरां एवं लाउंज डिजाइनिंग  तक बहुतेरे क्षेत्रों में न केवल उनकी सलाह ली जा रही है, बल्कि दखल भी देखा जा रहा है। विशाल ठाकुर की रिपोर्ट

नाइट आउट के शौकीन और पेज 3 सर्कल में मूव करने वाले लोग ये तो अच्छी तरह जानते होंगे कि होटल सम्राट स्थित लैप-रेस्तरां एवं लाउंज अभिनेता अर्जुन रामपाल का है, लेकिन यह बहुत कम लोगों को पता होगा कि लैप की डिजाइनिंग में गौरी खान के अलावा फैशन डिजाइनर रोहित बल और तरुण तहिलियानी का नाम भी शामिल है।
  
यह नया ट्रैंड है, जो इंडस्ट्री में चल रहा है। इस ट्रैंड के तहत तमाम फैशन डिजाइनर और फैशन से जुड़े लोग फैशन डिजाइनिंग से परे हट काफी कुछ कर रहे हैं। होम फर्निशिंग से लेकर फर्नीचर लाइन और आइसक्रीम पार्लर से लेकर रेस्तरां एवं लाउंज डिजाइनिंग के कार्यों तक बहुतेरी चीजों में उनकी राय  और दखल देखा जा रहा है।

फैशन के साथ फूड : अब से करीब दो-तीन साल पहले फैशन डिजाइनर विजय अरोड़ा ने जब फैशन के साथ फूड सेक्शन में कदम रखा तो फैशन बिरादरी के एक खेमे से खबर आयी कि उनका धंधा जरा मंदा है, इसलिए वह इस सेक्शन में कूदे हैं। लेकिन जल्द ही यह बात साफ हो गयी कि विजय अरोड़ा ने जिलेटो आइसक्रीम को लॉन्च कर एक नए ट्रैंड को शुरू किया है और इसमें अपनी डिजाइनिंग के इनपुट डाल इसे अनूठा विस्तार दिया है। आज जिलेटो आइसक्रीम विजय अरोड़ा के एक्सक्लूसिव पार्लर से निकल पांचतारा होटलों, पार्टीज सहित तमाम मॉल्स और रेस्तरां में मिलने लगी है।

सब्यसाची की होम फर्निशिंग : विजय की ही तरह जब फैशन डिजाइनर सब्यसाची ने फैशन से परे होम फर्निशिंग में कदम रखा तो इंडस्ट्री में काफी खलबली मची। लेकिन बॉम्बे डाइंग के साथ हुआ उनका गठजोड़ काफी सफल रहा।  बॉम्बे डाइंग के साथ होम फर्निशिंग लाइन के तहत उन्होंने बेडशीट्स, पिलो कवर्स, कर्टेन्स आदि के माध्यम से मध्य वर्ग और हाई क्लास लोगों के घरों को एक नया लुक दिया। ये नया लुक उनके डिजाइन्स से प्रेरित था। जो लोग उनके डिजाइन्स और स्टाइल से वाकिफ थे, वो इस संग्रह को समझ सकते थे। 

सब्य ने वही किया, जो वह करते आये थे। राजस्थानी डिजाइन्स से मोरक्को डिजाइन्स का मेल, जापानी फूल-पत्तियों के साथ अफ्रीका की सुंदरता की छाप और इसके साथ पोलका डॉट्स का इस्तेमाल कर उन्होंने साठ के दशक के फैशन की यादें ताजा करा दीं।

जेज वलाया के प्रयोग : सब्यसाची की ही तरह फैशन डिजाइनर जेजे वलाया, जिन्हें कोतूर किंग भी कहा जाता है, ने तो फैशन डिजाइनिंग का एक से अधिक चीजों में इस्तेमाल किया है। थीम वेडिंग से लेकर वेन्यू डिजाइन और फूड डिजाइन तथा फर्न्स एंड पेटल्स के साथ उनका गठजोड़ फ्लावर डेकोरेशन की दुनिया में एक नायाब तोहफे सरीखा है।

लग्जरी वेडिंग का कॉन्सेप्ट भी उन्होंने ही इजाद किया और उसे एफएनपी के साथ शुरू किया। आज वह इस क्षेत्र में एक नई परंपरा शुरू कर रहे हैं, जिसके तहत वह शेफ्स को बताते हैं कि फूड जायके के साथ-साथ देखने में भी दिलचस्प होना चाहिये और उसे परोसने के स्थान पर ऐसी सज्जा होनी चाहिये कि लोगों की भूख बढ़ जाए। जेजे का यह कॉन्सेप्ट काफी व्यापक स्तर पर है, जिसके तहत महल में शादी से लेकर शादी में फैशन शो का कॉन्सेप्ट भी शामिल है। 

रोहित बल की कारीगरी : जेजे के बाद अब बात करते हैं फैशन डिजाइनर रोहित बल की, क्योंकि रोहित अपनी फैशन लाइन के अलावा और भी बहुत सी चीजों से जुड़े हैं। कुछ समय पहले एक कांफ्रेंस में रोहित के बेहद करीबी माने जाने वाले एफडीसीआई के अध्यक्ष सुनील सेठी ने एक लग्जरी कालीन का जिक्र किया था। वो लिमिटेड एडिशन कालीन था, जो सुनील ने रोहित को गिफ्ट किया था। सुनील सेठी लिमिटेड एडिशन पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उस समय तक रोहित ने लैप में अपना हुनर नहीं दिखाया था।

आज जो लैप जाते हैं और वहां की सर्विस, फूड के साथ-साथ इंटीरियर और एंबियांस पर गौर करते हैं, उनके जेहन में रोहित बल की कारीगरी की याद एक सेकंड में ताजा हो उठती है। लैप की डिजाइनिंग में इस्तेमाल की गयी राजसी शान-ओ-शौकत, डिजाइन्स में ऐतिहासिक चीजों का इस्तेमाल, रेड और गोल्ड शीशे का इस्तेमाल बताता है कि यहां उनका हाथ लगा है।

फैशन के क्षेत्र में क्रिस्टल किंग कहे जाने वाले डिजाइनर तरुण तहलियानी की छाप भी लैप में देखने को मिलती है। लैप की ओपनिंग जब हुई तो अर्जुन ने बताया था कि वो इस वेन्यू के डिजाइन के लिए कई अलग-अलग फील्ड के लोगों की राय जानना चाहते थे, लेकिन डिजाइन के लिए उनके दिमाग में सबसे पहले रोहित और तरुण का नाम आया, क्योंकि उनके जेहन में वेदा का डेकोर अक्सर घूम जाया करता था।

वेदा (दो रेस्तरां श्रृंखला) नामक रेस्तरां रोहित बल का है, जिसका संचालन और उसका डिजाइन दोनों उन्होंने ही किया है। वेदा के बाद रोहित ने अपने हुनर को एक नई उड़ान दी और लोगों के सामने चीबो आया। जी हां, चीबो रेस्तरां, पब एवं लाउंज भी रोहित बल की ही देन है। हाल ही में रोहित ने फर्नीचर लाइन में अपने हाथ आजमाए। कीर्तिलाल का ज्वैलरी कलेक्शन और कफलिंग्स डिजाइन्स भी उन्हीं के हाथों की देन है।

आर्ट को फैशन के साथ जोड़ा : उधर फैशन डिजाइनर रोहित गांधी और राहुल खन्ना की पैलेट आर्ट गैलरी पेज 3 सर्कल में खासी पापुलर है। पैलट आर्ट गैलरी की शुरुआत इस डिजाइनर जोड़ी ने ये सोच कर की कि क्यों न आर्ट को फैशन के साथ जोड़ा जाए। यहां पैलेट आर्ट गैलरी के ईवेंट्स में आपको एक फैशनेबल ईवेन्ट की झलक देखने को मिलेगी। इससे आर्ट को उसकी मार्केटिंग में एक उड़ान मिलती है, जो शायद अन्य गैलरीज में नहीं मिल पाती होगी। इसके अलावा जतिन कोचर, रितु बेरी, वेन्डेल रॉड्रिग्ज आदि ने भी कई एयरलाइंस, ट्रैफिक पुलिस, स्कूलों आदि की ड्रेसेज डिजाइन करने में अपना योगदान दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फैशन डिजाइनरः हर ताल पर करते कमाल