DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

26/11 में लश्कर के खिलाफ और सबूत चाहते हैं गिलानी

26/11 में लश्कर के खिलाफ और सबूत चाहते हैं गिलानी

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने पाकिस्तानी धरती से भारत पर आतंकवादी हमले करने वाले संगठनों को बर्दाश्त न करने का वादा किया, लेकिन उन्होंने मुंबई हमले को अंजाम देने वाले संगठन लश्कर-ए-तैयबा के खिलाफ ठोस कार्रवाई करने लिए अभी और सबूतों की जरूरत बताई।

गिलानी ने सोमवार को संवाददाताओं को बताया कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की चिंताओं के संदर्भ में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने उनके समक्ष लश्कर के खिलाफ कार्रवाई का मुद्दा उठाया था।

उन्होंने कहा, ''अगर हमारे पास अधिक प्रभावी साक्ष्य होंगे तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। हम नहीं चाहते कि किसी देश के खिलाफ हमारी सरजमीं का इस्तेमाल हो और हम दूसरे की सरजमीं को भी पाकिस्तान के खिलाफ इस्तेमाल नहीं होने देंगे।''

भारतीय विदेश सचिव निरुपमा राव ने रविवार को बताया था कि सिंह ने ओबामा से मुलाकात के दौरान मुंबई हमलों में शामिल लोगों के खिलाफ पाकिस्तान द्वारा ठोस कार्रवाई किए जाने पर जोर दिया था।

गिलानी ने कहा, ''राष्ट्रपति ओबामा ने मेरे साथ इस बारे में चर्चा की। वह भारत और पाकिस्तान के बीच अच्छे रिश्ते चाहते हैं।''

उल्लेखनीय है कि 26 नवंबर, 2008 को मुंबई में हुए हमले में लगभग 176 लोग मारे गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:26/11 में लश्कर के खिलाफ और सबूत चाहते हैं गिलानी