DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोहित और हरमीत ने जिंदा रखीं डक्कन की उम्मीदें

रोहित और हरमीत ने जिंदा रखीं डक्कन की उम्मीदें

डक्कन चार्जर्स ने आईपीएल थ्री के मैच में रायल चैलेंजर्स बेंगलूर को नजदीकी मुकाबले में 13 रन से शिकस्त देते हुए सेमीफाइनल में पहुंचने की अपनी उम्मीदों जिंदा रखा है। रायल चैलेंजर्स की पूरी टीम 152 रन के लक्ष्य के सामने 19.4 ओवर में 138 रन बना सकी।

रायल चैलेंजर्स की ओर से राहुल द्रविड़ ने 35 गेंद आठ चौकों की मदद से 49 रन की पारी खेली लेकिन यह नाकाफी रही। डक्कन की ओर से आरपी सिंह, प्रज्ञान ओझा और हरमीत सिंह ने दो-दो विकेट लिए।
 
इससे पहले डेल स्टेन के शुरुआती कहर से बैकफुट पर पहुंचे डेक्कन चार्जर्स ने रोहित शर्मा (51) और मोनीष मिश्रा (41) के बीच चौथे विकेट के लिए 82 रन की साझेदारी की मदद से छह विकेट पर 151 रन का सम्मानजनक स्कोर बनाया।

सेमीफाइनल की दौड़ में बने रहने के लिए करो या मरो के मुकाम पर पहुंची डेक्कन की बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर शुरुआत भयावह रही। उसके कप्तान एडम गिलक्रिस्ट का बल्ला तो मानो रन उगलना ही भूल गया है। उन्होंने स्टेन की पारी की जो पहली गेंद खेली वही उनके बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर रोबिन उथप्पा के दस्तानों में समा गई।

दक्षिण अफ्रीकी तेज गेंदबाज का तूफान यहीं पर नहीं थमा। उन्होंने अगली गेंद पर फार्म में चल रहे टी सुमन को भी रोस टेलर को हाथों कैच कराकर हैट्रिक की संभावना जगा दी। स्टेन की हैट्रिक बचाने वाले उनके हमवतन हर्शल गिब्स (12) भी जल्द ही नप जाते लेकिन आर विनय कुमार के ओवर में टेलर के हाथों से उनका कैच छूट गया।

बहरहाल, टेलर की यह चूक रायल चैलेंजर्स को अधिक महंगी नहीं पड़ी और स्टेन ने अगले ओवर में ही 143 किमी की रफ्तार वाली गेंद से गिब्स के विकेटों को त्राहिमाम करवा दिया। केवल 15 गेंद बाद डेक्क्न का स्कोर था तीन विकेट पर 14 रन। स्टेन ने चार ओवर में केवल 18 रन देकर तीन विकेट लिए।

रोहित और मिश्रा ने यहीं से संभलकर खेलते हुए विकेट बचाए रखते हुए रन बनाने की जिम्मेदारी संभाली। मिश्रा ने अनिल कुंबले, विराट कोहली और केपी अपन्ना पर छक्के जमाए तो रोहित ने जाक कैलिस की लगातार तीन गेंद को सीमा रेखा के दर्शन करवाए।

मिश्रा हालांकि दोनों के बीच आपसी तालमेल की कमी के कारण 13वें ओवर में रन आउट होकर पवेलियन लौट गए। उनकी 30 गेंद की पारी में तीन छक्कों के अलावा एक चौका भी शामिल है। नए बल्लेबाज एंड्रयू साइमंडस (19) डेथ ओवरों में तेजी लाने के प्रयास में कुंबले की गेंद पर स्टंप आउट हुए तो रोहित भी उनके पीछे-पीछे डगआउट में पहुंच गए। अब छक्के जमाना जरूरी था और रोहित ने जब ऐसा ही प्रयास किया तो मनीष पांडे ने सीमा रेखा के करीब उसे कैच में तब्दील कर दिया। इस तरह से रोहित की 46 गेंद की पारी में केवल सात चौके ही दर्ज हो पाए। रियान हैरिस (नाबाद 13) ने अंतिम ओवर में कैलिस की गेंद पर मिडविकेट पर छक्का जड़कर स्कोर डेढ़ सौ रन के पार पहुंचाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रोहित और हरमीत ने जिंदा रखीं डक्कन की उम्मीदें