DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एशियाई बैडमिंटन चैम्पियनशिप में भारत की निराशाजनक शुरुआत

एशियाई बैडमिंटन चैम्पियनशिप में भारत की निराशाजनक शुरुआत

भारत की पीसी तुलसी और गायत्री वर्तक को एशियाई बैडमिंटन चैम्पियनशिप के पहले दिन क्वालीफायर राउंड में शिकस्त का सामना करना पड़ा जिससे मेजबान देश के लिए इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट की शुरूआत निराशजनक रही।

गायत्री को यहां सिरी फोर्ट खेल परिसर में क्वालीफाइंग के दूसरे दौर में चीन की शिन ल्यू ने सीधे गेम में 29 मिनट में 21-12, 21-11 से शिकस्त दी जबकि तुलसी के अभियान पर दूसरे दौर में ताइपे की शियाओ मा पाई ने विराम लगाया। तुलसी के पास मा पाई की तेजी का कोई जवाब नहीं था जिसने उन्हें सिर्फ 24 मिनट में 21-8, 21-9 से बाहर कर दिया।

भारत की दोनों खिलाड़ियों पर दूसरे दौर के मैच के दौरान थकान हावी दिखी और दोनों ने कई बेजां गलतियां की जिनका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा। भारतीय खिलाड़ियों को इसके अलावा ड्रिफ्ट से भी जूझना पड़ा। गायत्री ने मैच के बाद स्वीकार किया कि उन्होंने कई बेजां गलतियां की। उन्होंने कहा कि मैंने कई गलतियां की। थोड़ी थकान भी थी लेकिन मैं धीमी थी। मैच के दौरान कई लंबी रैलियां चली जिससे मैं थक गई। यह थकान हालांकि शारीरिक से अधिक मानसिक थी। मैं मैच पर नियंत्रण नहीं रख पाई और मुझे लेंथ को लेकर भी जूझना पड़ा।

भारत के लिए दिन की शुरूआत अच्छी रही थी जब तुलसी ने पहले दौर में पाकिस्तान की सारा खान को 21-9, 21-16 से हराया। सारा ने दूसरे गेम में तुलसी को परेशान करने की कोशिश कि लेकिन भारतीय खिलाड़ी ने उनकी उम्मीदें तोड़ दी। तुलसी हालांकि इस जज्बे को मा पाई के खिलाफ बरकरार नहीं रख पाई और आसानी से हार गई।

गायत्री ने भी पहले दौर में श्रीलंका की चंद्रिका डि सिल्वा को सीधे गेमों में सिर्फ 25 मिनट में 21-17, 21-12 से हराकर अपने अभियान की अच्छी शुरूआत करते हुए भारतीय दर्शकों की उम्मीदें बढ़ा दी थी लेकिन वह भी दूसरे दौर में विरोधी खिलाड़ी के तूफान का सामना नहीं कर सकी।

गायत्री और तुलसी की हार के बाद महिला एकल के मुख्य वर्ग में भारतीय चुनौती का दारोमदार शीर्ष वरीय सायना नेहवाल, तप्ति मुएगुंडे और सयाली गोखले, अदिति मुतातकर और नेहा पंडित पर होगा।

पहले दौर में दक्षिण कोरिया की युआ हुआ ली को कड़े मुकाबले में 31 मिनट में 21-18, 21-11 से शिकस्त देने वाली शिन को अब मुख्य वर्ग में जगह बनाने के लिए कल कोरिया की ही जिन आह वाई से भिड़ना है। जिन ने पहले दौर में इंडोनेशिया की अपरीलिया युसवानदानी को 21-8, 8-21, 21-17 जबकि दूसरे दौर में थाईलैंड की बिन्ह थो एनगुएन को 16-21, 21-10, 21-17 से हराया।

तुलसी को हराने वाली मा पाई ने पहले दौर में श्रीलंका की उपुली समंथिको को सिर्फ 17 मिनट में 21-11, 21-16 से हराया था और अब क्वालीफाइंग फाइनल में उन्हें कोरिया की हेई वोन कांग का सामना करना है। कांग ने पहले दौर में बांग्लादेश की अकतार शपला को 21-10, 21-7 जबकि दूसरे दौर में मलेशिया की फ्लोराक सियु फोंग को 21-12, 21-5 से शिकस्त दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एशियाई बैडमिंटन चैम्पियनशिप में भारत की निराशाजनक शुरुआत