DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी में सबसे ज्यादा बिजली चोरी दक्षिणांचल में

प्रदेश में सबसे ज्यादा बिजली चोरी दक्षिणांचल बिजली वितरण कंपनी के क्षेत्र में है। पावर कार्पोरेशन की ओर से जुटाए गए बीते एक साल में बिजली चोरी के आँकड़ों के मुताबिक सबसे ज्यादा 8125 मामले दक्षिणांचल में पकड़े गए जिसमें 1769 गिरफ्तार किए गए। सबसे कम 228 गिरफ्तारियाँ मध्यांचल में हुईं। पश्चिमांचल बिजली कंपनी में 1177,  पूर्वांचल में 674, केस्को में 60 विद्युत चोरों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया।

अलीगढ़ मण्डल में 920, आगरा मण्डल में 419, कानपुर मण्डल में 198, चित्रकूट मण्डल में 177, झांसी मण्डल में 115, आजमगढ़ मण्डल में 164, इलाहाबाद मण्डल में 176, गोरखपुर मण्डल में 131, बस्ती मण्डल में 91, वाराणसी मण्डल में 93, विन्ध्याचल मण्डल में 19, देवीपाटन मण्डल में 0, फैजाबाद मण्डल में 10, बरेली मण्डल में 50, लखनऊ  मण्डल में 168, मुरादाबाद मण्डल में 103, मेरठ मण्डल में 1018 और सहारनपुर मण्डल में 56 बिजली चोर गिरफ्तार हुए।

पावर कार्पोरेशन के प्रवक्ता ने बताया कि कारपोरेषन द्वारा प्रदेश के 9230 दलित बस्तियों में स्ट्रीट लाइटें लगाने का काम लगभग पूरा हो चुका है। अध्यक्ष नवनीत सहगल ने निर्देश दिए हैं कि जहाँ लाइटें नहीं लगी हैं वहाँ काम तेजी से हो। सहारनपुर मण्डल में 236, मेरठ में 268, मुरादाबाद में 1034, आगरा में 244, अलीगढ़ में 363, कानपुर में 401, झांसी में 190, चित्रकूट में 322, बरेली में 474, लखनऊ  में 2375, फैजाबाद में 550, देवीपाटन में 270, इलाहाबाद में 496, आजमगढ़ में 1033, वाराणसी में 274, मिर्जापुर में 308, गोरखपुर में 710 व बस्ती मण्डल में 196 दलित बस्तियों में स्ट्रीट लाइटें लगाई गईं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी में सबसे ज्यादा बिजली चोरी दक्षिणांचल में