DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खेद पत्र

किसी कंपनी में नौकरी पाने के लिए आप घंटों तैयारी करते हैं, यहां तक कि आप इंटरव्यू के बाद भी पूरी तरह विश्वस्त होते हैं कि आपको वह जॉब मिल जाएगी, पर उसके बाद आपको हाथ में आता है खेद भरा पत्र। आप हताश होते हैं और सोचने लग जाते हैं कि आखिर गलती कहां हुई? लेकिन उत्तर कुछ नहीं मिलता। कभी न कभी सब को बिना चुने बाहर का रास्ता देखने को मिलता है। यह वाकई बेहद दुख के क्षण होते हैं, पर लाख टके का सवाल यह भी है कि कैसे इस स्थिति को स्वीकार किया जाए? पर नौकरी ढूंढ़ने की प्रक्रिया के दौरान यह काफी महत्वपूर्ण प्रश्न है।
इसे प्रक्रिया का हिस्सा मानें: टोटल बैंलेंस ग्रुप में करियर कोच केट जेम्स के अनुसार, यह जान लें कि जॉब सर्च करना अंकों का खेल है। जिसमें मात्र तर्क संगत सोच रखने से काम नहीं चलता। उदाहरण के लिए, यदि आपकी दक्षता किसी जॉब विशेष से पूरी तरह मेल नहीं खाती, पर वे किसी दूसरी जॉब से जरूर मेल खाएगी। घटना से हताश करने की बजाय अगली नौकरी के लिए तैयार हों।  
इनकार का कारण जानें: नौकरी के लिए इनकार किए जाने का कारण जानना आपको खुद को पहचानने में मदद करता है। इसलिए सकारात्मक फीडबैक लेने में कभी हिचकिचाए नहीं। ईमानदार फीडबैक मिले तो उसके प्रति नकारात्मक रवैया ना अपनाएं। विनम्रता से पूछें कि उस कमजोरी से उबरने के लिए आप क्या कर सकते हैं? यदि उत्तर हां में मिलता है, तो आपको खुदको फिर रखने का मौका मिलेगा। यदि नहीं, तो कोई स्पष्टीकरण ना दें। बातचीत प्रोफेशनल रखें, किसी भी उम्मीदवार के साथ ऐसा हो सकता है। अपने अहम् को संतुष्ट करने के लिए वापसी के प्रयास की कोशिश कर सकते हैं, जानें कब आपके लिए स्वीकृति का रास्ता तैयार हो जाए। इसके अलावा हो सकता है कि कंपनी द्वारा चुना गया व्यक्ति जॉब ऑफर को मना कर दे।  
दिल पर मत लें: इनकार को निजी तौर पर न लें। आपको नौकरी नहीं मिली, इसके कई कारण हो सकते हैं जिनमें से कई आपकी कुशलता और योग्यता से संबद्ध नहीं होते। कारण कुछ भी हो, उस पर निरंतर सोचते न रहें।   जारी..

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खेद पत्र