DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीएचयू : 229 एससी/एसटी प्रोफेसर-रीडर की होगी भर्ती

बीएचयू में प्रोफेसर और रीडर के पदों पर एससी/एसटी कोटा लागू होने के बाद विश्वविद्यालय में इसके तहत 229 सीटें आरक्षित हो चुकी है। विश्वविद्यालय में 347 प्रोफेसर व 680 रीडर के पदों पर सीधी भर्ती होती है। एससी का 15 प्रतिशत व एसटी का 7.5 फीसदी आरक्षण प्रभावी होने के बाद प्रोफेसर के पदों पर एससी के 52 और एसटी के 25 पद आरक्षित हो गए है। इसी प्रकार रीडर के पदों पर 101 एससी और एसटी के 51 पद कोटे की परिधि में आ चुके हैं।

फिलहाल एससी/एसटी के सभी पद रिक्त है। हालांकि इस वर्ष 29 जनवरी और 1 अप्रैल को विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा शिक्षकों की भर्ती के लिए जारी विज्ञापन में कोटे की व्यवस्था की गई है, लेकिन नियुक्ति में अभी समय लगेगा।

सूत्रों के अनुसार जनवरी 2007 में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा विश्वविद्यालयों में लेक्चरर के पदों पर ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था भी बीएचयू में पूरी तरह से लागू नहीं हो सका है। 2009 में लेक्चरर की भर्ती के लिए हुए विज्ञापन में ओबीसी आरक्षण व्यवस्था होने के बावजूद पद रिक्त न होने से 27 प्रतिशत आरक्षित पद पूरी तरह से नहीं भरे जा सके हैं।

प्रोफेसर-रीडर के पदों पर एससी/एसटी कोटा प्रभावी करने के लिए लंबी लड़ाई लड़ने वाले कृषि विज्ञान संस्थान के प्रो. लालचन्द्र प्रसाद का कहना है कि अभी भी बीएचयू प्रशासन एससी, एसटी व ओबीसी के बाबत यूजीसी के निर्देशों को पूरी तरह से लागू नहीं कर पाया है। हाउस एलाटमेंट, लायजन ऑफिसर की नियुक्ति व एससी/एसटी छात्रों से जुड़ी कुछ वेलवेयर स्कीमें अभी लागू होना बाकी हैं। हालांकि बीएचयू में प्रोफेसर-रीडर के पदों पर आरक्षण व्यवस्था विश्वविद्यालय में चर्चा का विषय है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीएचयू : 229 एससी/एसटी प्रोफेसर-रीडर की होगी भर्ती